उत्तर प्रदेशराज्य

मतगणना केंद्रों पर भीड़ बुलाने वालों पर नजर, डीजीपी ने चेताया, बोले- विस चुनाव वाली सख्ती होगी

लखनऊ। मतगणना के दौरान शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस प्रशासन ने कड़े प्रबंध किए हैं। विशेषकर इंटरनेट मीडिया के भ्रामक सूचनाएं व अफवाह फैलाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

अपर मुख्य सचिव, गृह दीपक कुमार व डीजीपी प्रशांत कुमार ने माहौल बिगाड़ने का प्रयास करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई किए जाने की चेतावनी दी है। कहा कि प्रदेश में 81 मतगणना केंद्रों पर त्रिस्तरीय सुरक्षा प्रबंध सुनिश्चित कराए गए हैं। सभी जिलों में धारा 144 लागू की गई है। कहीं भी किसी प्रत्याशी को विजय जुलूस निकालने की अनुमति नहीं होगी।

डीजीपी ने कहा कि इंटरनेट मीडिया पर भ्रामक संदेश भी प्रसारित किए जा रहे हैं। कुछ लोग मतगणना केंद्र पर बड़ी संख्या में लोगों को जुटाने के लिए संदेश प्रसारित कर रहे हैं। ऐसे लोगों के विरुद्ध पुलिस के पास पुख्ता प्रमाण हैं। उनके विरुद्ध कड़ी विधिक कार्रवाई की जाएगी। समय आने पर पुलिस उनके नाम भी उजागर करेगी।

पूरी सख्ती से निपटेगी पुलिस

कहा कि सातों चरणों का मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हुआ है। प्रदेश में कहीं भी चुनावी हिंसा की कोई घटना नहीं हुई है। यह उप्र पुलिस की दक्षता को दर्शाता है। चुनाव आयोग के निर्देशों के अनुरूप शांतिपूर्ण व निष्पक्ष मतगणना संपन्न कराने के लिए सभी प्रबंध सुनिश्चित कराए गए हैं। मतगणना के दौरान कहीं भी किसी प्रकार की गड़बड़ी करने अथवा शांति-व्यवस्था भंग करने का प्रयास करने वालों से पुलिस पूरी सख्ती से निपटेगी।

डीजीपी ने बताया कि मतगणना स्थलों में पहले (भीतरी) घेरे में केंद्रीय पुलिस बल, दूसरे (मध्य) घेरे में पीएसी व तीसरे (बाहरी) घेरे में जिला पुलिस मुस्तैद रहेगी। सभी मतगणना स्थलों पर महिलाओं की चेकिंग महिला पुलिसकर्मियों के द्वारा ही की जाएगी। इसके अलावा संवेदनशील क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस व यूपी 112 की पीआरवी की तैनाती रहेगी। विशेष स्थानों पर दंगा नियंत्रण उपकरणों के साथ भी पुलिसकर्मी मुस्तैद रहेंगे।

मतगणना केंद्रों के साथ ही आसपास के मार्गों पर भी सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से निगरानी की जाएगी। गृह विभाग व डीजीपी मुख्यालय के कंट्रोल रूम के माध्यम से सभी जिलों में चल रही गतिविधियों की निगरानी की जा रही है।

सोशल मीडिया सेल भी सक्रिय है। मतगणना स्थलों की सुरक्षा-व्यवस्था में 160 एसपी व एएसपी, 476 पुलिस उपाधीक्षक, 2,248 निरीक्षक, 20,876 मुख्य आरक्षी, 50,697 आरक्षी, 6,149 होमगार्ड, 102 कंपनी पीएसी व 145 कंपनी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल लगाया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *