अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

हापुड़ पुलिस ने किया नाइजीरियन गैंग का पर्दाफाश, 3 गिरफ्तार

हेलो मैं मर्सी बोल रही हूं. क्या आप मुझसे दोस्ती करोगे!. अगर आपके पास भी फेसबुक और इंस्टा पर फ्रेंड बनने के बाद इस तरह की कॉल आ रही है, तो सावधान हो जाइए. क्योंकि आप भी ठगी का शिकार हो सकते हैं. जी हां, हापुड़ में पुलिस ने एक ऐसे ही गिरोह को गिरफ्तार किया है, जो पहले फेसबुक और इंस्टाग्राम पर लड़कियों के नाम से फेक प्रोफाइल बनाकर फ्रैंड रिक्वेस्ट भेजता था और बाद में दोस्ती गहरी करने के लिए फोन कॉल और चैट पर बातें करते-करते अपनी ठगी का शिकार बना देता था. पुलिस ने दो नाइजीरियन सहित नागालैंड की एक भारतीय महिला को गिरफ्तार किया है. पकड़े गये तीनों शातिर ठगों के पास से पुलिस ने चार मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, 1520 रूपये और फर्जी रसीदें बरामद की हैं. पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

पुलिस अधीक्षक हापुड़ अभिषेक वर्मा ने बताया कि थाना पिलखुवा पर एक एफआईआर साइबर फ्रॉड से संबंधित दर्ज कराई गई थी. जिसमें पीड़ित की तरफ से बताया गया कि उसके पास एक विदेशी युवती के नाम से फ्रैंड रिक्वेस्ट फेसबुक पर आई. रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करने के बाद युवती की तरफ से उससे व्हाट्सऐप, इंस्टा और फेसबुक पर बातचीत करनी शुरू कर दी गई. युवती ने अपने आप को विदेश में रहने वाली बताया और कहा कि वह उससे मिलने के लिए भारत आ रही है.

दिल्ली से आरोपियों को दबोचा 

एसपी अभिषेक वर्मा ने बताया कि युवती ने पीड़ित युवक से कहा कि उसे एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान पकड़ लिया गया है और जो गिफ्ट देने के लिए आईफोन और डॉलर लाई थी, उन्हें भी ले लिया है. युवती ने पीड़ित को अपनी बातों के जाल में उलझाकर पीड़ित युवक से करीब 1 लाख रूपये की ठगी कर ली. शिकायत मिलने के बाद सक्रिय हुई थाना साइबर क्राइम टीम और थाना पिलखुवा पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू कर दी. पुलिस ने गहन पड़ताल के दौरान एक युवती सहित दो युवकों को दिल्ली के संतगढ़ जाकर गिरफ्तार कर लिया.

नाइजीरियन हैं दोनों युवक 

एसपी अभिषेक वर्मा ने बताया कि पकड़े गये दोनों युवक नाइजीरियन हैं और वर्तमान में वह दिल्ली में रह रहे हैं. युवकों ने पुलिस को अपने नाम पीटर उर्फ डेविड निवासी ग्राम डेल्टा स्टेट, नाइजीरिया, माइकल डीनो अडेक्स निवासी लीजिस, नाइजीरिया बताये. साथ ही पकड़ी गई महिला ने अपना नाम मर्सी केथ पत्नी माइकल डीनो अडेक्स निवासी ग्राम कैनडीन्यिो स्टेशन, जिला टेस्मिन्यू, नागालैंड और वर्तमान पता संतगढ़, थाना तिलकनगर, नई दिल्ली बताया.

गिरफ्तार कर जेल भेजे गए आरोपी 

एसपी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों में शातिर साइबर ठग आधा दर्जन से ज्यादा लोगों को अपनी ठगी का शिकार बना चुके हैं और उनके खातों में करीब 6 लाख रुपये से ज्यादा का ट्रांजेक्शन भी हुआ है. एसपी ने बताया कि शातिर साइबर ठग उनके चंगुल में फंसे लोगों को कस्टम विभाग की फर्जी रसीदें भी भेजते थे और लगातार उनसे रुपये लेते रहते थे. पुलिस ने तीनों ठगों के पास से चार मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, 1520 रुपये, फर्जी रसीदें आदि बरामद की है. पुलिस ने तीनों को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *