बॉलीवुडमनोरंजन

बैंक में करते थे काम और अपनी बॉस की बेटी को ही दे बैठे थे दिल, पत्नी रह चुकी हैं मिस इंडिया

4 दशक के फिल्मी करियर में परेश रावल ने एक से बढ़कर एक फिल्मों में काम किया है और उनका अंदाज हर किसी को भा जाता है. नेगेटिव रोल से लेकर कॉमेडी रोल तक उन्होंने अपने दमदार अभिनय की छाप हर के जॉनर में बखूबी छोड़ी है.अपनी अदाकारी से परेश रावल ने हिंदी सिनेमा में शानदार योगदान किया है. उन्हें एक मैथेड एक्टर माना जाता है. 30 मई हिंदी सिनेमा के दिग्गज अभिनेता अपना 69 साल के हो जाएंगे. परेश रावल के जन्मदिन पर आइए उनसे जुड़ी दिलचस्प बातें जानते हैं.

बैंक में कर चुके हैं नौकरी

30 मई, 1950 को मुंबई में जन्मे परेश रावल यूं तो आज दमदार अभिनय की वजह से फेमस हैं, मगर उनका इरादा कभी सिविल इंजीनियर बनना था। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने नौकरी ढूंढनी चाही, तो इसके लिए काफी जद्दोजहद करनी पड़ी. वहीं इस बात का पता बहुत कम लोगों को होगा या यूं कहें कि कुछ खास लोगों को ही पता होगा कि परेश रावल इंडस्ट्री में आने से पहले बैंक ऑफ़ बड़ौदा में भी नौकरी कर चुके हैं, लेकिन एक्टिंग में रूचि होने के कारण उन्होंने नौकरी छोड़ दी और फिर एक्टिंग को ही अपना करियर बना लिया.

अलग-अलग भाषा में कर चुके हैं काम

परेश रावल का जन्म मुंबई में 1955 में हुआ. परेश रावल ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत 1982 में गुजराती फिल्म ‘नसीब नी बलिहारी’ से की थी. वहीं बॉलीवुड में परेश रावल की डेब्यू फिल्म 1984 में आयी फिल्म ‘होली’ से किया था. इस फिल्म में परेश रावल ने एक सहायक अभिनेता का किरदार निभाया था. वहीं अभी तक परेश रावल ने एक से बढ़कर एक हिट फिल्मे दी हैं. परेश रावल गुजरती, हिंदी, तेलुगु, मराठी फिल्मों में काम कर चुके है.

थियेटर से की थी करियर की शुरुआत

परेश रावल ने अपने करियर की शुरुआत थियेटर से की थी. इसके बाद फिल्मों में अपना हाथ आजमाया. साल 1985 में राहुल रवैल के निर्देशन में बनी फिल्म ‘अर्जुन’ में परेश रावल ने विलेन का किरदार निभाया था. इस फिल्म में हीरो से ज्यादा सुर्खियां परेश रावल ने विलेन के किरदार से बटोर ली थीं. कुछ ही फिल्मों के बाद परेश रावल इंडस्ट्री में स्टार बन गए. परेश रावल को सबसे ज्यादा शोहरत फिल्म हेरा-फेरी से मिली थी.

गर्लफ्रेंड से लेने पड़ते थे पैसे

240 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके परेश रावल ने मशहूर एक्टर अनुपम खेर के शो पर खुलास किया था कि वे अपनी गर्लफ्रेंड से पैसे लिया करते थे. परेश ने कहा था कि हमारे घर परिवार में पॉकेट मनी का कोई कॉन्सेप्ट नहीं था. ऐसे में अपने गुजारे के लिए परेश बैंक में नौकरी करने लगे. परेश ने बताया था कि उन्हें डेढ़ महीने के लिए बैंक में नौकरी मिली थी लेकिन उन्होंने तीन दिन के बाद ही नौकरी छोड़ दी थी. ऐसे में उनके लिए सर्वाइव करना मुश्किल हो रहा था. तब उनकी मदद उनकी गर्लफ्रेंड संपत स्वरुप करती थी.

बॉस की बेटी संग रचाई शादी

एक्टर की रियल लाइफ की बात करें तो वो भी किसी फिल्म से कम नहीं है. आपको पता हो कि परेश रावल की पत्नी स्वरूपा संपत उनके बॉस की बेटी थीं. इस बात का खुलासा खुद परेश रावल ने किया था कि, जब उन्होंने पहली बार स्वरूप को देखा तो अपना दिल दे बैठे थे. तभी से उन्होंने ठान लिया था कि अगर शादी करनी है तो स्वरूप से ही करनी है. अपनी शादी को लेकर परेश ने कहा था, ‘उन दिनों मेरे दोस्त महेंद्र जोशी मेरे साथ थे, जब मैंने उन्हें स्वरूप के बारे में बताया तो उन्होंने कहा कि तुम्हें पता है तू जिस कंपनी में काम कर रहा है, ये उस बॉस की बेटी है.’ लेकिन वो कहते हैं न कि प्यार की कोई हद नहीं होती. ऐसा ही कुछ परेश ने भी कर दिखाया और साल 1987 में स्वरूपा से शादी कर ली अब इनके दो

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *