अपराधदिल्ली/एनसीआरनई दिल्ली

अरविंद केजरीवाल के एक और मंत्री की बढ़ी मुश्किलें, कोर्ट ने मानहानि मामले में भेजा समन

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी को कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। दरअसल, दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने आतिशी को समन भेजा है। आतिशी को 29 जून को कोर्ट में पेश होने के लिए बुलाया गया है। बता दें कि दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट के एसीएमएम ने दिल्ली भाजपा के मीडिया विभाग के प्रमुख प्रवीण शंकर कपूर के एक मुकदमे को स्वीकर कर लिया है। प्रवीण शंकर कपूर ने दिल्ली की मंत्री आतिशी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था। इसके साथ ही कोर्ट ने दिल्ली की मंत्री आतिशी को 29 जून को अदालत में पेश होने के लिए बुलाया है।

बीजेपी ने दायर की थी शिकायत

दरअसल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मंत्री आतिशी के खिलाफ कोर्ट में आपराधिक शिकायत दायर कर भाजपा और पार्टी के सदस्यों की मानहानि का आरोप लगाया गया था। भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली इकाई के मीडिया प्रमुख प्रवीण शंकर कपूर ने अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट तान्या बामनियाल के समक्ष शिकायत दर्ज कराई थी।

क्या हैं आरोप

प्रवीण शंकर कपूर की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत में आरोप लगाया गया कि आम आदमी पार्टी के दोनों नेताओं (अरविंद केजरीवाल और आतिशी) ने भाजपा पर आप विधायकों को खरीदने और राज्य सरकार को गिराने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए ‘झूठे और मनगढ़ंत बयान’ दिए जिसका मकसद भाजपा और उसके कार्यकर्ताओं की प्रतिष्ठा को आम जनता में कम करना था। प्रवीण शंकर कपूर ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि “इस प्रकार के दुर्भावनापूर्ण/निंदनीय बयानों के जरिए आम आदमी पार्टी, भाजपा और उसके सदस्यों को बदनाम करते हैं। इतना ही नहीं प्रेस वार्ता के मंच का उपयोग करते हुए झूठे बयान देकर राजनीतिक लाभ हासिल करने की कोशिश करते हैं।”

आप के आरोप

फिलहाल देश में लोकसभा चुनाव का माहौल है। आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल खुद अंतरिम जमानत पर बाहर आए हुए हैं। वहीं लोकसभा चुनाव के बाद उन्हें सरेंडर करना है। ऐसे में आदमी पार्टी की नेता आतिशी को भी समन किया गया है। वहीं आप की ओर से भाजपा पर लगातार पार्टी को तोड़ने के आरोप लगाए जाते रहे हैं। अलग-अलग चुनावी जनसभाओं में अरविंद केजरीवाल कहते हैं कि पीएम मोदी आम आदमी पार्टी के सभी नेताओं को जेल में भेजकर पार्टी को खत्म करना चाहते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *