अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

अपने चारों ओर आग जलाकर तपस्या कर रहे थे संत पागल बाबा, गर्मी से हो गई मौत

संभलः उत्तर प्रदेश के संभल में धूनी जलाकर तपस्या कर रहे संत की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, भीषण गर्मी से राहत दिलाने, नशा मुक्ति और विश्व शांति के लिए संत तपस्या कर रहे थे। इसी दौरान उनकी तबीयत बिगड़ गई। आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। संत की मौत की सूचना पर सीडीओ मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली। मामला संभल के कैला देवी क्षेत्र के बेनीपुर चक का है। संत 23 मई से धूनी रमाकर तपस्या कर रहे थे।

बता दें कि पूरा उत्तर भारत इन दिनों भीषण गर्मी से जूझ रहा है। लू और हवा के गर्म थपेड़ों से लोग बीमार हो रहे हैं। इसी बीच अमेठी के रहने वाले संत पागल बाबा ने संभल के उपजिलाधिकारी विनय मिश्र से परमिशन लेकर तपस्या करने बैठ गए थए। बताया जा रहा है कि पागल बाबा ने नशा मुक्ति, विश्व शांति, जगत कल्याण और गोरक्षा के लिए धूनी रमाकर तपस्या करने का फैसला किया था। 23 मई को अपने चारों ओर आग जलाकर संत पागल बाबा उसके बीच में बैठ गए और तपस्या शुरू कर दी। चार दिन चक चलने वाली उनकी यह तपस्या 27 मई को पूरी होनी थी लेकिन उससे पहले ही बाबा की मौत हो गई।

तकरीबन 45 डिग्री सेल्सियस का तापमान और चारों ओर आग की तपन के बीच बैठकर तपस्या कर रहे संत पागल बाबा की तबीयत रविवार को सुबह 10 बजे के आसपास खराब हो गई। सेवादार गजराज सिंह तत्काल उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बताया गया कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही बाबा की मौत हो गई थी। सूचना मिलते ही सीडीओ भरत मिश्र जिला अस्पताल पहुंचे और डॉक्टरों से मामले की जानकारी ली।

कौन थे संत पागल बाबा

संत पागल बाबा मूलतः अमेठी के शमशेदलपुर गांव के रहने वाले थे। अमेठी में ही सगरा महाकाल शिव धाम नाम से उनका एक आश्रम है। वह पहले भी तमाम मुद्दों को लेकर ऐसे ही तपस्या करते रहे हैं। उनके सेवादारों ने बताया कि इससे पहले समाज में फैल रही कुरीतियों के खिलाफ संत पागल बाबा 19 स्थानों पर तपस्या कर चुके हैं। अपनी तपस्या के दौरान वह बिना भोजन के रहते हैं और सिर्फ शाम को एक बार जूस पीते हैं। रविवार को 46 डिग्री तापमान के बावजूद तपस्या के लिए अग्नि जलाने से पारा और बढ़ गया। इससे भूखे-प्यासे संत की तबीयत बिगड़ गई और उनकी जान चली गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *