अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

औरैया में महिला पोस्टमास्टर ने दी जान: MSc करके 12वीं पास ट्रक ड्राइवर से की थी लव मैरिज; मां बोली- इश्क में चली गई जान

नई दिल्ली: बुधवार सुबह करीब 9 बजे का वक्त रहा होगा। आम दिनों की तरह लक्ष्मीनगर मोहल्ले में आम हलचल थी। लोग अपने काम-धंधे पर निकल रहे थे। गली में कुछ बच्चे खेलते हुए हल्ला मचा रहे थे कि तभी पुलिस की गाड़ी एक घर के बाहर आकर रुकती है। खाकी वर्दी वाले उतरते हैं और उस घर की तरफ बढ़ते हैं। इस बीच बच्चों की उस भीड़ से करीब पांच साल का एक बच्चा भी उसी घर की तरफ भागता है। बच्चा अभी घर में दाखिल हुआ ही था कि उसे अपने कमरे के बाहर कुछ लोग और पुलिसवाले खड़े दिखते हैं। वो कुछ समझ पाता, इससे पहले ही वहां खड़े लोग उसे बताते हैं कि उसकी मम्मी ने अपनी जान दे दी है।

दिल दहला देने वाली वाली ये वारदात यूपी के ओरैया जिले में अजीतमल इलाके के लक्ष्मीनगर मोहल्ले की है। जान देने वाली इस महिला का नाम था अवंतिका मिश्रा। 22 मई को उसने घर के अंदर साड़ी का फंदा बनाकर और उससे लटकर अपनी जान दे दी। ओरैया जिले के ही अमावता पोस्ट ऑफिस में अवंतिका असिस्टेंट ब्रांच पोस्ट मास्टर के पद पर थी। जिस घर में उसने खुदकुशी की, वहां वो 15 दिन पहले की किराएदार के तौर पर रहने आई थी। बुधवार को जब वो दफ्तर के लिए नहीं निकली, तो पड़ोसियों को कुछ शक हुआ। वो पता करने पहुंचे तो दरवाजा अंदर से बंद था। खिड़की से झांकने पर अवंतिका पंखे से लटकी हुई मिली, जिसके बाद पुलिस को खबर दी गई। अच्छी सैलरी वाली नौकरी और पांच साल का बेटा… इन सबके बावजूद अवंतिका ने खुदकुशी क्यों की, ये सवाल वहां मौजूद हर शख्स की जुबान पर था। पुलिस ने लाश का पंचनामा किया और पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

अवंतिका के पास थी M.Sc. की डिग्री

पुलिस को पूछताछ में पता चला कि 25 वर्षीय अवंतिका मिश्रा साइंस की स्टूडेंट रह चुकी है। उसके पास एमएससी की डिग्री थी। अजीतमल इलाके के रौशनपुर गांव की रहने वाली अवंतिका ने पढ़ाई पूरी करने के बाद सरकारी नौकरी की तैयारी की और उसे डाक विभाग में असिस्टेंट ब्रांच पोस्ट मास्टर का पद मिल गया। इसी दौरान उसकी जान-पहचान गांव के रहने वाले सत्यम वाजपेई से हुई। सत्यम 12वीं पास था और ट्रक चलाता था। दोनों की मुलाकात पहले दोस्ती में बदली और फिर प्यार में। 2018 में अवंतिका और सत्यम ने शादी कर ली। शादी के एक साल बाद ही अवंतिका एक बेटे की मां बन गई।

4 महीने से पति से अलग रह रही थी अवंतिका

शुरुआत में दोनों के बीच सब ठीक चल रहा था, लेकिन कुछ दिन बाद ही दोनों के बीच लड़ाई-झगड़े होने लगे। विवाद जब ज्यादा बढ़ने लगा, तो अवंतिका ने अपने पति से अलग रहने का फैसला लिया। इस घटना से करीब 4 महीने पहले ही उसने अपने बेटे के साथ घर छोड़ दिया था। पुलिस ने जब अवंतिका के बेटे से पूछा तो उसने बताया कि उसके पापा मंगलवार शाम को घर आए थे। कुछ देर बैठे और इसके बाद मम्मी के साथ उनका झगड़ा शुरू हो गया। फिर अवंतिका उसे लेकर दूसरे कमरे में सोने चली गई। सुबह वो उठा और बाहर खेलने चला गया। इसके बाद जब लौटा तो पता चला कि उसकी मम्मी अब इस दुनिया में नहीं रही है।

रील भी बनाती थी अवंतिका

पुलिस पूछताछ में ये भी सामने आया कि जब अवंतिका अपने पति सत्यम से अलग हुई थी, तो उसी दौरान उसने उसके खिलाफ मारपीट की एफआईआर भी दर्ज कराई थी। वहीं, अपनी बेटी की मौत के लिए अवंतिका की मां ने अपने दामाद को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने बताया कि सत्यम उनकी बेटी को बहुत परेशान रखता था। पुलिस ने फिलहाल मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सत्यम से भी पुलिस ने संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उससे बात नहीं हो पाई। अवंतिका के फेसबुक पेज पर उसकी कई रील भी मौजूद हैं, जिन्हें देखकर लगता है कि वो किसी को निशाना बनाते हुए वीडियो बनाती थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *