अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

दूधिया करता दूध में मिलावट, पत्नी हुई पानी-पानी, तलाक तक पहुंची बात तो पति बोला- ‘धंधा हो जाएगा चौपट’

आगरा: पुलिस पराशर्म केंद्र में रविवार को एक अजब गजब मामला सामने आया है. दूधिया पति की दूध में मिलावटखोरी पर पत्नी ने पहले उसे समझाया. कहा कि, दूध में पानी की मिलावट नहीं करें. उसे ऐसा पैसा नहीं चाहिए. जब समझाने और हिदायत पर पति ने अपना रवैया नहीं बदला, तो पत्नी उसे छोड़कर मायके चली गई. पत्नी ने पुलिस से पति की शिकायत की. जिससे मामला पुलिस परामर्श केंद्र में पहुंचा. परिवार परामर्श केंद्र में जब पति और पत्नी काउंसलिंग के लिए रविवार को बुलाए गए, तो पत्नी ने पति से साफ साफ कह दिया, कि जब तक दूध में मिलावट करना बंद नहीं करोंगे मैं साथ नहीं चलूंगी. जबकि, पति ने कहा कि दूध में यदि पानी नहीं मिलाऊंगा, तो व्यापार में घाटा होगा. पति और पत्नी में सुलह नहीं होने पर दोनों को काउंसलर ने अगली तारीख पर बुलाया है.

परिवार परामर्श केंद्र के काउंसलर डॉ. अमित गौड़ ने बताया, कि राजपुर चुंगी निवासी युवती की शादी दो साल पहले धौलपुर राजस्थान के राजाखेड़ा के युवक से हुई है. युवक दूध बेचने का काम करता है. युवती धार्मिक प्रवत्ति की है. पति दूध में रोज पानी मिलाकर बेचने जाता है. पति और पत्नी के बीच दूध में पानी मिलाकर बेचने को लेकर विवाद होने लगा. इसको लेकर आए दिन घर में कलह होने लगी. क्योंकि, पत्नी को दूध में मिलावट करना पसंद नहीं हैं.

पहले मिलावटखोरी बंद करो, तब चलूंगी साथ: काउंसलिंग में पत्नी ने बताया, कि मैं नहीं चाहती कि पति दूध में पानी मिलाकर बेचे. मुझे ऐसे गलत काम की कमाई नहीं चाहिए. इसलिए, मैं पति की दूध में पानी मिलाकर होने वाली कमाई से खरीदी चीजों का उपयोग तक नहीं करती. उसने पति से कहा कि वह ये काम ना करें. रूखी सूखी रोटी खा लूंगी. लेकिन, मिलावटखोरी का रुपया नहीं चाहिए. इस पर पति और पत्नी में आए दिन विवाद होने लगा. मामला मायके तक पहुंचा तो दोनों के परिजन की कई बार पंचायत हुई. लोगों ने समझौते के प्रयास किए. लेकिन, पति दूध में मिलावट नहीं करने को तैयार ही नहीं है. इसलिए, बात नहीं बनी.

घटतौली पूरा करने को मिलता हूं पानी: काउंसलर डॉ. अमित गौड ने बताया, कि काउंसलिंग में पति का कहना है, कि अगर वो दूध में पानी नहीं मिलाएगा तो उसे घाटा होगा. क्योंकि, जो दूध वो पशुपालक से खरीदता है. उसमें उस समय झाग भी आता है. इससे भी दूध की घटतौली होती है. उस घटतौली को पूरा करने के लिए दूध में पानी मिलाता हूं. लेकिन, पति और पत्नी की काउंसलिंग में समझौता नहीं होने पर फिर से उन्हें अगली तारीख पर बुलाया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *