उत्तर प्रदेशराजनीतिराज्य

राजा भैया को चुनौती देना अनुप्रिया पटेल को पड़ा भारी! अपना दल एस में सवर्णों की उपेक्षा… राष्ट्रीय महासचिव ने पार्टी से दिया इस्तीफा

मिर्जापुर : प्रतापगढ़ में राजा भैया को लेकर बयान देने के बाद सुर्खियों में चल रही अनुप्रिया पटेल को झटका लगा है। अपना दल एस के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. राघवेंद्र प्रताप सिंह ने की सवर्णों के उपेक्षा का आरोप लगाकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे में उन्होंने कहा कि क्षत्रिय और ब्राह्मण को लेकर संसद पकौड़ी लाल कोल के द्वारा विवादित टिप्पणी की गई थी। बावजूद भी उनके पुत्रवधू रिंकी कोल को राबर्ट्सगंज सीट से प्रत्याशी बना दिया गया। जिसके बाद से ही सवर्णों में काफी असंतोष है। रिंकी कोल को प्रत्याशी बनाने के बाद नाराज होकर राघवेंद्र ने इस्तीफा दे दिया।

अपना दल से इस्तीफा देने के बाद राघवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि कोई भी दल सर्व समाज के लिए होता है। अपना दल एस ऐसा नहीं है। कोई पहले से तय होकर जाति में नहीं पैदा होता है। हम राजपूत है। हमने सर्व समाज के लिए किया है। लेकिन अपना दल एस में सवर्णों की उपेक्षा होती है।

इससे आहत होकर हमने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने आगे कहा कि सवर्णों की नाराजगी को लेकर हमने कई बार राष्ट्रीय अध्यक्ष से मुलाकात किया, लेकिन उन्होंने इसपर ध्यान नहीं दिया। हमारी समस्या को सुनने वाला कोई नहीं है। ऐसे में पार्टी में रहने का कोई औचित्य नहीं बनता है।

पकौड़ी ने की थी विवादित टिप्पणी

राबर्ट्सगंज के सांसद पकौडी लाल कोल ने कुछ वर्षों पहले ब्राह्मण व क्षत्रिय को लेकर विवादित टिप्पणी की थी। इसके बाद इसका काफी विरोध हुआ था। बाद में डैमेज कंट्रोल के लिए पकौडी कोल ने बयान का खंडन किया था। हालांकि पकौडी कोल का सोनभद्र में बहुत विरोध हुआ। इस बार उनकी बहु रिंकी कोल पर अपना दल एस ने भरोसा जताया है। उसके बाद अनुप्रिया पटेल ने राजा भैया को लेकर टिप्पणी की। इसके बाद सवर्ण विरोधी पार्टी होने का आरोप लगाकर राघवेंद्र ने इस्तीफा दे दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *