अपराधगाज़ियाबाददिल्ली/एनसीआर

4 साल की बच्ची को कुत्तों के झुंड ने नोच डाला, परिजन इलाज के लिए दिल्ली तक भटके पर नहीं बची जान

यूपी के मुरादनगर स्थित पाइप लाइन मार्ग भिक्कनपुर गांव के पास स्थित एसआर ईंट भटटे पर शनिवार दोपहर शौच करने गई चार साल की मासूम बच्ची पर छह से सात आवारा कुत्तों के झुंड ने हमला कर उसे नोच डाला। गंभीर हालत में गाजियाबाद से दिल्ली बच्ची को रेफर किया गया। दिल्ली जीटीबी अस्पताल में उपचार के दौरान बच्ची की मौत हो गई।

जनपद शाहजहांपुर तहसील जलालाबाद के गांव मकटौरा निवासी जरीफ अपनी पत्नी रूखसाना व बेटे फरहान और बेटी फरहीन (4) के साथ मुरादनगर पाइप लाइन मार्ग भिक्कनपुर गांव के पास स्थित एसआर भट्टे रहते हैं, वह चार महीने पहले भट्टे पर काम करने आए थे, जरीफ व रूखसाना भट्टे पर ईंट पथाई का काम करते हैं। शनिवार दोपहर जरीफ की चार साल की बेटी फरहीन अपने नाना सलाम के साथ भट्टे पर चारपाई पर सो रही थी। जरीफ व उसकी पत्नी रूखसाना अपनी झुग्गी में खाना खा रहे थे। करीब दो बजे अचानक बच्ची चारपाई से उठकर शौच करने के भट्टे के पास ही खुले स्थान पर चली गई। अचानक उस पर छह से सात आवारा कुत्तों ने हमला कर दिया। चीख पुकार सुनकर परिजन डंडा लेकर दौड़े, किसी तरह कुत्तों को भगाया, लहूलुहान हालत में बच्ची को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, हालत गंभीर होने पर गाजियाबाद रेफर किया गया, वहां से दिल्ली जीटीबी अस्पताल के लिए रेफर किया गया। जहां उपचार के दौरान शाम करीब चार बजे बच्ची की मौत हो गई। बच्ची की मौत से परिवार में कोहराम मचा है, मां रूखसाना का रो रोकर बुरा हाल है। एसीपी नरेश कुमार का कहना है कि घटना की जानकारी किसी ने थाने पर नहीं दी, मामले की जांच कराई जा रही है।

बच्ची के शरीर पर थे 20 से अधिक घाव

शनिवार दोपहर एसआर भट्टे पर आवारा कुत्तों के झुंड द्वारा किए हमले में मासूम बच्ची की दर्दनाक मौत हो गई। बताया गया है कि बच्ची के शरीर पर 20 से अधिक घाव थे, कुत्तों ने बच्ची को बुरी तरह नोंच डाला था। करीब 10 मिनट तक कुत्ते बच्ची को नोंचते रहे। वह चीखती चिल्लाती रही। जरीफ ने बताया कि वह करीब पांच माह पहले मुरादनगर में एसआर भट्टे पर पत्नी रूखसाना के साथ मजदूरी करने आये थे। शनिवार दोपहर फरहीन अपने नाना सलाम के पास चारपाई पर सो रही थी। बताया गया है कि बच्ची ने अपने नाना से शौच कराने को कहा था, उन्होंने चारपाई के पास ही शौच करने को कहा था। बच्ची चारपाई से करीब 30 मीटर दूर चली गई थी। इसी बीच कुत्तों ने झुंड ने हमला कर दिया।

गहरे घाव बने बच्ची की मौत का कारण

कुत्तों को देखकर बच्ची डर गई थी, अचानक कुत्तों ने हमला बोल दिया वह जमीन पर गिर गई, कुत्ते इतनी तेज भौंक रहे थे कि बच्ची की चीख किसी को सुनाई नहीं दी। इसी बीच ईंट पथाई करने वाले एक युवक ने इसे देख लिया और फावड़ा लेकर शोर मचाता भागा और कुत्तों को भगाया। जरीफ ने बताया कि बच्ची के शरीर पर 20 से अधिक गहरे घाव बन गए थे।

मौके पर परिजन होते तो बच सकती थी बच्ची की जान

जरीफ व रूखसाना अपनी झोपड़ी में खाना खाने के लिए चल गए थे। बच्ची जिद्द करके अपने नाना के साथ रही और वहीं सो गई। यदि मौके पर जरीफ होते तो बच्ची की जान बच सकती थी।

रैंबीज इंजेक्शन लगाया और घाव पर पट्टी बांध किया था रेफर

कुत्ते के हमले के बाद बच्ची को स्थानीय अस्पताल से गाजियाबाद जिला संयुक्त अस्पताल रेफर किया गया था। वहां बच्ची को रैंबीज इंजेक्शन लगाकर घाव पर पट्टी बांध के बाद दिल्ली जीटीबी के लिए रेफर किया गया। पिता जरीफ ने बताया कि बेटी का तुंरत इलाज शुरू हुआ, उसने एक बार फ्रूटी पीने के लिए मांगी थी। फिर कुछ नहीं बोली।

भट्टे से पांच सौ मीटर दूरी पर मछली का है तालाब

भट्टे से करीब पांच सौ मीटर दूरी पर स्थित तालाब में मछली पालन होता है। जरीफ ने बताया कि कुत्ते के झुंड तालाब में मछली खाने के लिए आते हैं, तालाब पर आने वाले कुत्ते खूंखार किस्म के हैं।

18 दिन में सैंकड़ों लोगों को कटा चुके कुत्ते

मोदीनगर व मुरादनगर में सैंकडों लोगों को कुत्ते काट कर घायल कर चुके हैं। एक सप्ताह पूर्व मोदीनगर में बेगमाबाद में घर के बाहर टहल रही महिला को कुत्ते ने काटकर घायल कर दिया था।

मुरादनगर जलालाबाद पुर गांव में घर के बाहर खेल रही मासूम बच्ची को कुत्ते ने काट कर घायल कर दिया। शनिवार शाम जलालपुर गांव निवासी इशिका (6) पुत्री ब्रजलाल अपने घर के बाहर खेल रही थी। इसी बीच आवारा कुत्ते ने उसके हाथ में काट लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *