अपराधदिल्ली/एनसीआरनोएडा

नोएडा की बुजुर्ग महिला से अजीब ठगी, डिजिटल हाउस अरेस्ट करके लगाया लाखों को चूना

साइबर फ्रॉड के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं. ताजा मामला उत्तर प्रदेश के नोएडा से आया है. यहां एक बुजुर्ग महिला डॉक्टर को साइबर ठगों ने निशाना बनाया है. साइबर ठगों ने महिला को 7 घंटे तक डिजिटल हाउस अरेस्ट. इसके बाद उनके खाते से 45 लाख रुपये की ठगी कर ली. बुजुर्ग महिला की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक, आरती सुरभित एक डॉक्टर हैं और वह अपना क्लीनिक चलाती हैं. बताया जा रहा है कि उनके पास एक नंबर से कॉल आई. फोन करने वाले ने खुद को कस्टम अधिकारी बताया और कहा कि उसके द्वारा थाईलैंड भेजा गया पार्सल वापस कर दिया गया है. इसके बाद उसने कहा कि पार्सल उसने भेजा है और उसमें पासपोर्ट, क्रेडिट कार्ड और एमडीएमए ड्रग्स हैं.

‘आरोपी ने खुद को मुंबई क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताया’

इसके बाद बुजुर्ग महिला डॉक्टर डर गई. फिर कॉल करने वाले ने केस को मुंबई क्राइम ब्रांच में ट्रांसफर करने की बात कही और कॉल को दूसरी जगह ट्रांसफर कर दिया. इसके बाद बात करते-करते दूसरे शख्स ने खुद को मुंबई क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताया और पूछताछ और बयान लेने के लिए स्काइप के जरिए वीडियो कॉल से जोड़ लिया. बयान लेने के बाद पीड़ित महिला डॉक्टर का आधार कार्ड भी देखा.

‘महिला डॉक्टर से 45 लाख रुपये की ठगी’

इसके बाद ठग ने महिला को बताया कि उसका बैंक खाता मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़ा है. इसी बीच तीसरे शख्स ने कहा कि आप वीडियो कॉल के जरिए 24 घंटे में मामला सुलझा सकते हैं. अन्यथा आपको मुंबई आना होगा और आपको 90 दिनों के लिए हिरासत में लिया जा सकता है. पीड़िता डर गई और उसके कहे अनुसार उसने एक फॉर्म भरकर 45 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए.

‘डॉक्टर को 7 घंटे तक वीडियो कॉल के जरिए जोड़े रखा’

हालांकि, ठग ने बुजुर्ग महिला डॉक्टर को 7 घंटे तक वीडियो कॉल के जरिए जोड़े रखा और पैसे की मांग करता रहा. इसके बाद शक होने पर पीड़ित ने 1930 पर कॉल किया. अब पीड़ित ने साइबर पुलिस से शिकायत की है. साइबर थाना प्रभारी ने बताया कि शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है. टीम का गठन कर दिया गया है. मामले की जांच कर जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *