अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

कपड़ों पर डीजल, गले में फंदा डाल पेड़ पर चढ़ी महिला, जानें क्यों 8 घंटे चला हाई वोल्टेज ड्रामा

हरदोई में रोजगार छिनने से परेशान महिला ने गुरुवार को पुलिस और दमकल कर्मियों को जमकर छकाया। कपड़ों पर डीजल और गले में फंदा डालकर वह 40 फीट ऊंचे पेड़ पर चढ़ गई और खुदकुशी करने का ऐलान कर दिया। लोग समझाते रहे पर वह मुख्यमंत्री और क्षेत्रीय विधायक को बुलाने की मांग पर अड़ी रही। पुलिस-फायर ब्रिगेड संग राजस्व विभाग की टीम मौके पर पहुंची। तकरीबन छह घंटे तक हाईवोल्टेज ड्रामा चला। काफी मशक्कत और अफसरों के आश्वासन के बाद वह नीचे उतरने को तैयार हुई।

सिरसा गांव निवासी शिवरानी आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह की सदस्य थी। गुरुवार तड़के 5:30 बजे उसने गले में फंदा और कपड़ों पर डीजल डालकर गांव के बाहर पेड़ पर चढ़ गई।

वहीं से चीख-चीखकर जान देने की बात कहने लगी। कभी रोने लगती तो कभी खरी-खोटी सुनाने लगती। खबर आग की तरह फैली तो नायब तहसीलदार सवायजपुर राजेश सिंह, प्रभारी निरीक्षक हरपालपुर आनंद नारायण पहुंच गए और उसे समझाने का प्रयास किया लेकिन वह नीचे उतरने को तैयार नहीं हुई। अचानक उस वक्त हड़कंप मच गया जब उसने खुद को आग लगाने का प्रयास किया। यह देख फायर ब्रिगेड के जवानों ने पानी की बौछार उस पर शुरू कर दी। कार्रवाई का आश्वासन देकर उसे शांत कराया गया। सुबह करीब 11:30 बजे शिवरानी को पेड़ से नीचे उतारा गया।

पुलिस की पूछताछ के दौरान उसने ब्लॉक समन्वयक व ब्लॉक प्रमुख पर गंभीर आरोप लगाए। शिवरानी ने बताया कि उसे स्वयं सहायता समूह से निकाल दिया गया है, जिसके कारण उसके पास कोई रोजगार नहीं बचा है। बीएमएम पर कार्रवाई की जाए। हालांकि आनंद नारायण ने बताया कि महिला ब्लॉक कर्मियों पर झूठे आरोप लगा रही है। उस पर शांति भंग के तहत कार्रवाई की गई है। उपायुक्त श्रम एवं रोजगार रवि प्रकाश सिंह ने बताया, स्वयं सहायता समूह की महिला के पेड़ पर चढ़कर न्याय मांगने के मामले की किसी ने जानकारी नहीं दी है। पता कराएंगे। महिला की तरफ से भी पहले कोई शिकायत नहीं मिली है। यदि ऐसा है तो जांच कराएंगे। इसके बाद नियमानुसार कार्रवाई होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *