अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

अमरोहा में सिपाही ने की खुदकुशी; बागपत में तैनात सिपाही ने स्टेटस में लिखा- मुझे माफ करना….

बागपत में तैनात जोया निवासी यूपी पुलिस के सिपाही ने शुक्रवार की शाम अमरोहा रेलवे स्टेशन पर सर्विस रायफल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। फायर की आवाज सुनकर रेलवे स्टेशन पर अफरा-तफरी मच गई। बेंच पर खून से लथपथ सिपाही का शव पड़ा देखकर हर कोई सन्न रह गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेते हुए जांच शुरू की। फिलहाल सिपाही के आत्मघाती कदम के पीछे का कारण साफ नहीं हो सका है। डिडौली कोतवाली क्षेत्र के कस्बा जोया के मोहल्ला खेड़ा में मूलरूप से रामनगर के रहने वाले शौकीन खां का परिवार रहता है। उनके परिवार में पत्नी मेहनाज और बेटी सबा के अलावा 32 वर्षीय बेटा तैय्यब खान था। शौकीन खां खुद यूपी पुलिस में इंस्पेक्टर थे। वह करीब दो महीने पहले ही सहारनपुर जिले से सेवानिवृत हुए हैं।

वहीं, तैय्यब के परिवार में पत्नी मुन्नी के अलावा दो बेटे जैद और आहत तथा दो बेटियां तैयबा और अरीबा हैं। बताया जा रहा है कि इसके पहले दो पत्नियों से उसका तलाक भी हो चुका है। साल 2015 में हुई भर्ती के बाद फिलहाल तैय्यब की तैनाती बागपत जिले में न्यायालय सुरक्षा में थी। बागपत से उसकी सात मई को संभल जिले में होने वाले चुनाव में ड्यूटी के लिए रवानगी हुई थी। इस बीच शुक्रवार शाम अमरोहा रेलवे स्टेशन पर उसने अपनी सर्विस रायफल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। फायर की आवाज सुनकर स्टेशन परिसर में अफरातफरी का माहौल बन गया। बेंच पर तैय्यब का खून से लथपथ शव पड़ा देख हर किसी के होश उड़ गए।

सूचना पर आननफानन एएसपी राजीव कुमार सिंह, सीओ सिटी अरुण कुमार सिंह समेत जीआरपी के आला पुलिस अफसर मौके पर पहुंचे। शव को कब्जे में लेते हुए जांच शुरू की। मौके पर शुरुआती जांच में मौत का कारण साफ नहीं होने पर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। वहीं बताया जाता है कि पुलिस टीम जब मृतक के घर पहुंची तो मेन गेट अंदर से बंद मिला। पुलिसकर्मियों के कहने के बाद भी परिजनों ने गेट को नहीं खोला। हालांकि बाद में परिजनों को जब पूरी जानकारी हुई तो उनके बीच भी कोहराम मच गया। आनन-फानन परिजन भी मौके पर पहुंच गए। चर्चा है कि तैय्यब के पारिवारिक जीवन में कुछ तनाव बना था। आशंका जताई जा रही है कि इसी के चलते उसने आत्महत्या की है। हालांकि पुलिस अधिकारी परिजनों से पूछताछ और पूरी जांच-पड़ताल के बाद ही इस बाबत कुछ भी कह पाने की बात कह रहे हैं।

मुरादाबाद एसपी जीआरपी आशुतोष शुक्ल ने बताया, अमरोहा रेलवे स्टेशन पर सिपाही की आत्महत्या का कारण घरेलू वजह माना जा रहा है। बागपत में तैनात सिपाही की संभल में चुनाव में डयूटी थी। घर से डयूटी के लिए शाम को निकला था। स्टेशन के प्लेटफार्म पर बेंच पर बैठे सिपाही ने टांगों के बीच रायफल फंसाकर खुद को गोली मार ली। मामले में जांच की जा रही है।

मौत से कुछ देर पहले ही वाट्सएप स्टेटस से दे दिया था आत्मघाती कदम का संकेत

तैय्यब ने अपनी मौत से कुछ घंटे पहले ही अपने आत्मघाती इरादे को साफ कर दिया था। रेलवे स्टेशन पर घटित पूरे घटनाक्रम से कुछ देर पहले ही उसने वाट्सएप पर एक स्टेटस को साझा किया था। इसमें लिखा था कि जो मैं करने जा रहा हूं, उसके लिए मुझे माफ करना। उसे मेरी बुजदिली मत समझना। बस इसके अलावा कोई रास्ता नहीं है। बताया जाता है कि इस स्टेटस को पढ़ने के बाद कुछ परिचितों ने तैय्यब को कॉल भी की, लेकिन किसी की भी कॉल रिसीव नहीं हो सकी।

वहीं तैय्यब का व्यक्तित्व बेहद होनहार और सादगी पसंद बताया गया है। उसकी आत्महत्या की खबर से हर कोई गमगीन हो गया। सोशल मीडिया पर हर किसी ने उसके साथ जुड़ी अपनी यादों को साझा कर नमन किया। एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा कि बहुत बेहतरीन इंसान थे भाई। यूपी पुलिस एग्जाम के टाइम बहुत मोटिवेट किया मुझे। मुझे यकीन ही नहीं हो पा रहा, भाई इस दुनिया से रुखसत हो गए। इसके अलावा भी सोशल मीडिया पर तैय्यब के साथ किसी न किसी रूप में जुड़े लोगों ने उसे याद किया। गमगीन हर शख्स ने उसकी मगफिरत की दुआ की। वहीं तैय्यब की पारिवारिक पृष्ठभूमि भी बेहतर थी। खुद उसके पिता भी यूपी पुलिस में इंस्पेक्टर के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। ऐसे में किसी को भी फिलहाल उसके आत्मघाती कदम के पीछे छिपी वजह नहीं समझ आ पा रही है।

सीओ सिटी अरुण कुमार सिंह का कहना है कि सिपाही की आत्महत्या की सूचना पर मैं पुलिस टीम के साथ रेलवे स्टेशन पर पहुंचा था। घटनास्थल रेलवे स्टेशन परिसर है, जो जीआरपी के अधीन है। मामले में अग्रिम कार्रवाई जीआरपी स्तर पर ही की जाएगी।

जीआरपी चौकी इंचार्ज सचिन मलिक ने बताया, मृतक सिपाही का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। परिजनों की ओर से तहरीर मिलने पर आगे जांच और कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *