खेलमनोरंजन

भुवनेश्वर ने आखिरी गेंद पर राजस्थान को दिया हार का सदमा, पढ़ें कैसे हैदराबाद ने लिखी जीत की स्क्रिप्ट

हैदराबाद: जीत के करीब पहुंचकर राजस्थान रॉयल्स आखिरी गेंद पर जरूरी दो रन नहीं बना पाई क्योंकि भुवनेश्वर कुमार ने अपनी जादुई गेंद से रोवमैन पॉवेल (15 गेंद में 27 रन) को आउट कर दिया। इसी के साथ सनराइजर्स हैदराबाद ने सांस थाम देने वाले मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स को आखिरी गेंद पर एक रन से हरा दिया। आखिरी ओवर में राजस्थान को जीत के लिए 13 रन चाहिए थे। शुरुआती पांच गेंद में रोवमैन पॉवेल 11 रन बनाने में कामयाब रहे, लेकिन अंतिम बाधा पार नहीं कर पाए। इससे पहले टॉस जीतकर हैदराबाद ने अपने घर पर तीन विकेट खोकर 201 रन बनाए थे। जवाब में यशस्वी जायसवाल और रियान पराग ने अर्धशतक जरूर लगाए, लेकिन उनकी टीम निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट खोकर 200 रन ही बना पाई।

आखिरी ओवर का रोमांच (छह गेंद में 13 रन दरकार)

पहली बॉल- सिंगल
दूसरी बॉल- डबल
तीसरी बॉल- चौका
चौथी बॉल- डबल
पांचवीं बॉल-डबल
छठी बॉल- LBW आउट

हैदराबाद के लिए भुवी रहे जीत के हीरो

स्कोरबोर्ड पर 201 रन टांगने के बाद इस स्कोर को डिफेंड करने की जिम्मेदारी सनराइजर्स हैदराबाद के गेंदबाजी की थी। अनुभवी तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने पहले ही ओवर में राजस्थान को दो करारे झटके दे दिए। दूसरी गेंद पप जोस बटलर बिना खाता खोले आउट हुए तो पांचवीं बॉल पर संजू सैमसन अपनी पहली ही गेंद पर 0 पर क्लीन बोल्ड हो गए। पहले ओवर के बाद राजस्थान का स्कोर दो विकेट के नुकसान पर सिर्फ एक रन था। भुवनेश्वर कुमार ने अपने चार ओवर के कोटा में कुल 41 रन देते हुए तीन अहम विकेट लिए।

नितिश, हेड की फिफ्टी और क्लासेन की तेज पारी

नितिश ने 42 गेंद में आठ छक्कों और तीन चौकों से नाबाद 76 रन की करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली। उन्होंने 44 गेंद में तीन छक्के और छह चौके की मदद से 58 रन बनाने वाले ट्रेविस हेड के साथ तीसरे विकेट के लिए 96 रन की साझेदारी की। इसके अलावा हेनरिक क्लासेन (19 गेंद में नाबाद 42, तीन छक्के, तीन चौके) के साथ भी चौथे विकेट के लिए 70 रन की अटूट साझेदारी की।

राजस्थानी गेंदबाजों की बेदम पिटाई

आवेश खान राजस्थान रॉयल्स के सबसे सफल गेंदबाज रहे, उन्होंने 39 रन देकर दो विकेट चटकाए। भारत की टी-20 विश्व कप टीम में जगह बनाने वाले युजवेंद्र चहल काफी महंगे साबित हुए, उन्होंने चार ओवर में 62 रन लुटाए और उन्हें कोई सफलता नहीं मिली। रविचंद्रन अश्विन ने नौ की इकॉनमी से बिना कोई विकेट लिए 36 रन लुटा दिए। संदीप शर्मा ने सिर्फ 31 रन देकर एक अहम विकेट लिया।

बेकार गई यशस्वी-रियान की पारी

202 रन के लक्ष्य के जवाब में राजस्थान रॉयल्स की शुरुआत भले ही खराब रही हो, लेकिन बाद में टीम ने जोरदार वापसी की। यशस्वी जायसवाल और रियान पराग के बीच तीसरे विकेट के लिए 78 गेंदों में 134 रन की साझेदारी हुई। दोनों जब तक क्रीज में थे तो लग रहा था कि राजस्थान यशस्वी जायसवाल ने 40 गेंदों में 67 रन बनाए तो रियान पराग 49 गेंद में 77 रन की पारी खेलकर आउट हुए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *