अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

दवा के नाम पर गैस की गोली, मारपीट…गाजीपुर में बिना रजिस्‍ट्रेशन चल रहा था मेंटल हॉस्पिटल, एक मरीज की मौत

गाजीपुर. फर्जी मानसिक चिकित्सालय में भर्ती एक मरीज की मौत होने की शिकायत मिलने पर सरकारी स्वास्थ्य विभाग ने छापा मारा. जमानिया क्षेत्र के मदनपुरा गांव में फर्जी अस्पताल चल रहा था. यहां मरीजों को जंजीरों से बांध कर रखा जाता है. चिकित्सा अधीक्षक जमानिया डा. रवि रंजन ने बताया कि इस अस्‍पताल में कुछ दवाएं मिली हैं जो गैस दूर करने के लिए दी जाती है. जबकि यहां कोई दस्‍तावेज, लाइसेंस और अस्‍पताल से संबंधित कोई दस्‍तावेज नहीं मिला है.

पुलिस ने फर्जी मानसिक अस्पताल संचालक पिता पुत्र को गिरफ्तार किया है. ये लोग मानसिक रोगियों के परिजनों से मोटी रकम वसूलते थे. पुलिस ने बताया कि यहां एक मरीज की मौत के बाद परिजनों ने शिकायत दर्ज कराई थी जिस पर कार्रवाई करते हुए दो लोगों को अरेस्‍ट किया गया है. ये लोग बिहार से युवक को इलाज के लिए यहां लाए थे. उन्‍होंने अस्‍पताल संचालक पर गंभीर आरोप लगाए हैं. इस घटना के बाद सरकारी अफसरों ने यहां छापा मार कार्रवाई की है.

बिना लाइसेंस और अनुमति के चल रहा था अस्‍पताल

चिकित्सा अधीक्षक जमानिया डा.रवि रंजन ने बताया कि गाजीपुर के जमानिया क्षेत्र के मदनपुरा गांव में फर्जी अस्पताल चल रहा था. स्वास्थ्य विभाग के छापे के दौरान इसमें अजीबोगरीब इलाज होता मिला. जहां मरीजों को जंजीरों में बांध कर इलाज किया जा रहा था. छापे के दौरान इलाज के नाम पर अस्पताल में सिर्फ गैस की दवाएं मिली. जबकि कोई मेडिकल स्टाफ मौजूद नहीं था. यहां नशा मुक्ति के नाम पर भी फर्जी इलाज किया जा रहा था. गांव में सहारा जन कल्याण पागल खाना के नाम से फर्जी मानसिक चिकित्सालय चलाया जा रहा था.

इलाज के नाम पर भर्ती लोगों से मारपीट करता था डॉक्‍टर

यहां भर्ती मरीजों ने बताया कि उनके साथ मारपीट की जाती थी. एक मरीज ने बताया कि डंडे से उसका सिर फोड़ दिया गया था. सभी मरीजों ने कहा कि वे घर वापस जाना चाहते हैं और वे मानसिक रूप से बिलकुल ठीक हैं. सरकारी डॉक्‍टरों ने भी जांच के बाद सभी मरीजों को मानसिक रूप से ठीक पाया है. इधर गांव वालों ने बताया कि बिहार से आए एक मरीज की इसी जगह कुछ दिन पहले मौत हो गई थी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *