व्यापार

आंकड़ों ने किया हैरान! 1 करोड़ से ज्यादा नौकरियां, दावेदार सिर्फ 87 लाख

नई दिल्ली। सरकारी नौकरियों के लिए भले ही कम आवेदन मांगे जा रहे हैं, लेकिन निजी सेक्टर में युवाओं के लिए भरपूर अवसर दिख रहे हैं। श्रम व रोजगार मंत्रालय के नेशनल करियर सर्विस (एनसीएस) पोर्टल पर पंजीकृत होने वाली नौकरियां की संख्या इस बात का संकेत दे रही है।

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल अप्रैल से लेकर इस साल 31 मार्च तक (वित्त वर्ष 2023-24) एनसीएस पोर्टल पर कंपनियों ने एक करोड़ नौकरियां के लिए आवेदन मांगे हैं। नौकरियां की यह संख्या वित्त वर्ष 2022-23 के मुकाबले 214 प्रतिशत अधिक है। वित्त वर्ष 2022-23 के दौरान एनसीएस पोर्टल पर कंपनियों ने 35 लाख नौकरियों के लिए आवेदन मांगे थे।

87 लाख आवेदकों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया

वित्त वर्ष 2023-24 के दौरान 87.27 लाख आवेदकों ने एनसीएस पोर्टल पर पंजीकरण कराया। पोर्टल के आंकड़ों के मुताबिक, निजी सेक्टर में सबसे अधिक नौकरियां की मांग वित्त एवं बीमा सेक्टर में हो रही है। वित्त वर्ष 2022-23 में वित्त व इंश्योरेंस सेक्टर की कंपनियों ने एनसीएस पोर्टल के जरिये 19.98 लाख नौकरियों के लिए आवेदन मांगे थी। वित्त वर्ष 2023-24 के दौरान इन सेक्टर की कंपनियों ने 46.69 लाख नौकरियों के लिए आवेदन मांगे हैं।

डिप्लोमा होल्डर्स के लिए अधिक नौकरियों की मांग

मैन्यूफैक्चरिंग, शिक्षा, आईटी एवं संचार व अन्य प्रकार के प्रोफेशनल्स सेक्टर के लिए भी बड़ी संख्या में नौकरियों की मांग आई है। आईटीआई और डिप्लोमा होल्डर्स के लिए सबसे अधिक नौकरियों की मांग हो रही है। केंद्र सरकार ने निजी क्षेत्र में नौकरियों के अवसरों को युवाओं तक पहुंचाने के लिए एनसीएस पोर्टल की शुरुआत की थी। इस पोर्टल पर दसवीं पास से लेकर पीएचडी डिग्रीधारक तक नौकरी के लिए आवेदन कर सकता है। पोर्टल पर इस साल 31 मार्च तक 25.58 लाख नियोक्ता मौजूद थे।

संख्या का सटीक आकलन नहीं किया जा सकता

हालांकि, इस पोर्टल पर यह डाटा उपलब्ध नहीं होता है कि रिक्त नौकरियों में से कितनी नौकरियां भर गई हैं। इस बारे में श्रम मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि कई बार जिन युवाओं को रोजगार मिल जाता है, वे भी अपने बायोडाटा को पोर्टल से नहीं हटाते हैं क्योंकि वे अगली अच्छी नौकरी की तलाश में रहते हैं। इसलिए नौकरी मिलने वालों की संख्या का सटीक आकलन नहीं किया जा सकता है।.

नौकरी खोजने व देने वालों की मदद करेगा एआई

मंत्रालय एनसीएस पोर्टल 2.0 लांच करने जा रहा है जहां नौकरी खोजने वाले और देने वाले दोनों को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआइ) व मशीन लर्निंग (एमएल) की मदद दी जाएगी। मंत्रालय अधिकारी के मुताबिक, मान लीजिए किसी ने इलेक्टि्रशियन की नौकरी के लिए आवेदन किया। एआई व एमएल की मदद से आवेदन को देखते हुए उसे सिस्टम बताएगा कि कौन सा कोर्स कर लेने पर उसे और अच्छी व अधिक वेतन वाली नौकरी मिल सकती है।

नियोक्ता को आवेदकों के बारे में जानकारी दी जाएगी

वैसे ही नियोक्ता को उन आवेदकों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी, जिन्होंने उनकी नौकरी के लिए आवेदन नहीं किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *