अपराधग्रेटर नोएडादिल्ली/एनसीआर

स्क्रैप माफिया रवि काना गर्लफ्रेंड संग दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार, थाइलैंड पुलिस ने किया था डिपोर्ट

स्क्रैप माफिया रवि काना और उसकी गर्लफ्रेंड काजल झा को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया गया है. शुक्रवार को थाईलैंड पुलिस ने दोनों को भारत डिपोर्ट किया था जिसके बाद उन्हें दिल्ली लाया गया. शनिवार दोपहर 2 बजे जैसे ही रवि काना और काजल झा दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे दोनों को नोएडा पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया.

दोनों से नोएडा पुलिस ने पूछताछ की जिसमें उन्होंने खुलासा किया कि 31 दिसंबर 2023 को भारत से फरार होकर थाईलैंड पहुंच गए थे. नोएडा पुलिस रवि काना और उसकी गर्लफ्रेंड को न्याययिक हिरासत में जेल भेजेगी.

नोएडा पुलिस कुछ दिन बाद दोनों की अदालत से रिमांड मांगेगी. रवि काना और उसकी गर्लफ्रेंड नोएडा पुलिस की जांच और गिरफ्तारी के डर से थाईलैंड फरार हो गए थे. नोएडा पुलिस ने लोकेशन ट्रेस की और थाईलैंड पुलिस से संपर्क किया था. इसके बाद थाईलैंड पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार किया और भारत डिपोर्ट कर दिया.

नोएडा पुलिस अब तक रवि काना और काजल झा की दिल्ली एनसीआर में 250 करोड़ की संपति जब्त कर चुकी है. आगे की पूछताछ में कई बड़े सफेदपोश और रसूखदार लोगों के नाम का खुलासा हो सकता है.

कहां कितनी संपत्ति

नोएडा पुलिस ने गौतम बुद्ध नगर, बुलंदशहर और दिल्ली में गैंगस्टर रवि काना की लगभग 200 करोड़ की संपत्ति सील कर दी थी. इसमें दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में 80 करोड़ रुपये कीमत का बंगला भी शामिल है.

ये बंगला रवि ने अपनी गर्लफ्रेंड काजल झा के नाम पर खरीदा था. नोएडा पुलिस ने बुलंदशहर के खुर्जा में 40 बीघा जमीन भी सील कर दी. पुलिस का कहना है कि आरोपी ने यह संपत्ति विभिन्न अपराधों से अर्जित धन से बनाई है.

कब और कैसे हुई रवि काना और काजल झा की मुलाकात?

काजल झा और रवि काना की मुलाकात तब हुई थी, जब काजल नौकरी की तलाश में उसके पास पहुंची थी. काजल ने रवि के यहां काम शुरू किया, इसके बाद दोनों के बीच नजदीकी बढ़ी और काजल रवि की कंपनियों का पूरा काम संभालने लगी.

गैंगस्टर रवि नागर उर्फ रवि काना के काले कारोबार में साथ देने वाली उसकी गर्लफ्रेंड काजल झा भी पुलिस के निशाने पर आ गई. ग्रेटर नोएडा पुलिस ने दक्षिण दिल्ली की न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में उसका 80 करोड़ का बंगला सील कर दिया था.

यह बंगला रवि ने काजल को गिफ्ट किया था. यह प्रॉपर्टी रवि काना और उसके गिरोह से जुड़ी कुल 200 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति का हिस्सा है, जो दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में अवैध स्क्रैप कारोबार से बनाई गई.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *