अपराधउत्तर प्रदेशराजनीतिराज्य

भड़काऊ भाषणों से मुरादाबाद में माहौल खराब करने वाली सपा प्रत्याशी रुचि वीरा पर दर्ज हुई एफआईआर

मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में पूर्व सीएम अखिलेश यादव के लिए मंच से पुलिस को औकात में रहने की धमकी देने वाली समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी रुचि वीरा पर ऐक्शन लिया गया है। रुचि वीरा के खिलाफ मुरादाबाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। रुचि वीरा के खिलाफ अभी तक 3 एफआईआर हो चुकी हैं। इस पर रुचि वीरा का कहना है कि उन्हें डराने की कोशिश हो रही है, लेकिन वह डरने वाली नहीं हैं।

दरअसल, 14 अप्रैल को सपा मुखिया अखिलेश यादव को मुरादाबाद में एक जनसभा को संबोधित करना था। तेज बारिश की वजह से अखिलेश यादव के आने का प्रोग्राम कैंसिल हो गया था। लेकिन रैली में बड़ी तादाद में भीड़ जमा हो गई थी। भीड़ अनियंत्रित होने लगी थी। पुलिस ने उसे कंट्रोल किया। भीड़ को आने से रोक दिया था।

क्या है पूरा मामला?

इस पर मंच पर मौजूद सपा कैंडिडेट रुचि वीरा ने पुलिस को धमकाने के अंदाज में कहा कि पुलिस वाले औकात में रहें। पुलिस वालों को भाजपा का एजेंट और दलाल तक कह डाला था। कहा था कि ऐसे पुलिस वालों पर लानत है जो मेरे वोटरों को डराने की कोशिश कर रहे हैं। तुम कितनी भी कोशिश कर लो, मेरे वोटरों को रोक नहीं पाओगे।

एफआईआर में सपा के पूर्व महानगर अध्यक्ष शाने अली शानू, सपा के जिलाध्यक्ष जयवीर सिंह यादव, सपा नेता बाबर और मोहम्मद गनी भी नामजद है। एफआईआर होने से खफा रुचि वीरा अधिकारियों से मिलीं और शिकायत की।

आचार संहिता उल्लंघन में सपा की इकरा हसन समेत 160 पर एफआईआर

शामली में आचार संहिता उल्लंघन में पुलिस ने ने इंडिया गठबंधन से सपा कैंडिडेट इकरा हसन सहित 10 को नामजद करते हुए, 150 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। दरअसल, शामली में कांधला थाना क्षेत्र के गांव पंजोखरा में सपा प्रत्याशी ने समर्थकों के साथ बिना परमिशन के रोड शो किया गया।

इस रोड शो में गांव पंजोखरा में सोमवार रात्रि इकरा हसन और ग्राम प्रधान संदीप बड़ी तादाद में समर्थकों के साथ रोड शो में शामिल हुए थे। उसका वीडियो वायरल हो गया था। एएसपी संतोष कुमार सिंह का कहना है कि आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन का मुकदमा दर्ज कर किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *