अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

घरेलू कलह के चलते महिला ने उठाया आत्मघाती कदम, दुधमुंही बच्ची को गोद में बैठाकर मां ने किया आत्मदाह

यूपी के हमीरपुर जिले में घरेलू कलह के चलते 22 साल की एक महिला ने अपनी चार महीने की बच्ची को गोद में लेकर खुद को आग के हवाले कर दिया. जिसके चलते मां और बेटी की जलकर मौत हो गई. इस घटना के बाद परिवार में हड़कंप मच गया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

दरअसल, मुस्करा थाने के पहाड़ी डेरा गांव में सोमवार की सुबह 22 वर्षीय महिला ने अपनी चार  माह की बेटी के साथ खुद को आग के हवाले कर दिया. गंभीर हालत में मां-बेटी को सीएचसी मुस्करा से मेडिकल कॉलेज उरई रेफर किया गया था, जहां इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई. घटना के बाद से मृतका का पति फरार है, जिससे मामला संदिग्ध बना हुआ है.

जानकारी के मुताबिक, पहाड़ी डेरा गांव निवासी उत्तम की पत्नी किरन ने सोमवार की सुबह 7.30 बजे के आसपास अपनी चार महीने  की बच्ची आराध्या को गोद में लेकर ज्वलनशील पदार्थ डालकर आग लगा ली, जिससे दोनों धू-धूकर जलने लगे. घटना के समय उत्तम घर पर ही मौजूद था, जो इस घटना के बाद फरार हो गया.

पड़ोसियों की मदद से मां-बेटी को उपचार के लिए सीएचसी मुस्करा लाया गया, जहां से दोनों को उरई मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया. यहां इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई.

सीएचसी की चिकित्सक डॉ. मनुलिका वर्मा ने बताया कि मां बेटी 80 फीसदी जली अवस्था में लाये गए थे. उरई मेडिकल कॉलेज में ही दोनों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है.

घटना की सूचना पर मृतका की मां सुखवती भी परिवार वालों के साथ मौके पर पहुंच गई. मां सुखवती ने बताया कि मायके से अभी दो दिन पहले ही किरन आई थी. सोमवार को ही नातिन का मुंडन देवी मंदिर में कराने जाना था, लेकिन विधाता को कुछ और ही दिखाना था. उत्तम की शादी चार वर्ष पूर्व  जिला महोबा गौहरारी गांव निवासी भगवान सिंह राजपूत की पुत्री किरन के साथ हुई थी.

इस मामले में पुलिस इंस्पेक्टर शशि पांडे ने बताया कि फिलहाल उनके पास तहरीर प्राप्त नहीं हुई है, तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल, जांच-पड़ताल की जा रही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *