अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

धार्मिक यात्रा पर गए 7 लोगों की मौत : अंतिम संस्कार के वक्त परिजनों के विलाप से नम हुई हर आंख, मासूमों के शव देख सिहर उठे लोग

राजस्थान के सीकर जिले के फतेहपुर में यूपी के मेरठ के एक परिवार के सात लोग रविवार को जिंदा जल गए (Seven people burnt alive). दरअसल, रविवार की दोपहर ढाई बजे एक कार ने ट्रक में टक्कर मार दी. इस दुर्घटना के बाद कार में आग लग गई और देखते-देखते धू-धूकर पूरी कार और उसमें सवार सभी लोग जल गए.

भीषण आग लगने से परिवारों के दो मासूम बच्चों व तीन महिलाओं सहित सात लोग बस कुछ मिनट में ही जिंदा जल गए. आग इनती भीषण थी कि कोई कुछ भी नहीं कर पाया. परिवार सालासर बालाजी के दर्शन कर वापस मेरठ जा रहा था. जलकर मरने वालों में पति-पत्नी, दो बेटियां, मां,मौसी समेत 7 लोग शामिल हैं.

ओवरटेक करने के कारण ट्रक के नीचे जा घुसी कार

बताया जाता  है कि सालासर पुलिया पर ओवरटेक के फेर में एक तेज रफ्तार कार ट्रक के नीचे जा घुसी. गैस पाइप के फटने से गैसकिट सिलेंडर में तुरंत आग लग गई और देखते-देखते  कार जल उठी. ट्रक में भरी कॉटन रोल ने आग में घी डालने का काम किया. राहगीरों ने उन्हें बचाने का प्रयास भी किया, लेकिन गेट नहीं खुला और कुछ ही पल में आग ने सात जिंदगियां लील ली.

कुछ ही मिनटों में जल गए सात लोग

आग इतनी भषण थी कि पुलिस और दमकल पहुंची तब तक सारा खेल खत्म हो चुका था. ट्रक ड्राइवर व खलासी आग लगते ही भाग गए. प्रत्यक्षदर्शियों व कोतवाल सुभाष बिजारणियां अनुसार कस्बे के सालासर पुलिया पर दोपहर करीब 2.30 बजे हादसा हुआ. एक ट्रक व कार चूरू की तरफ जा रहे थे. तभी सालासर पुलिया पर ट्रक को ओवरटेक करते हुए कार आगे निकलने लगी तो सामने से एक वाहन आ गया. वाहन को बचाने के फेर में असंतुलित हुई कार आगे चल रहे ट्रक में घुस गई.​

ट्रक में भरी कॉटन के कार पर गिरने से भड़क उठी आग

सूचना मिलते ही पुलिस घनास्थल पर पहुंची तब तक कार में सवार सातों लोग जिंदा जल चुके थे और आग ने भयावह  रूप ले लिया था. कार में गैस किट लगा हुआ था. ट्रक में मेडिकल कॉटन (रूई) भरी हुई थी, जो कार पर आकर गिर गई. इस वजह से आग और तेजी से भड़क गई. मौके पर भारी भीड़ एकत्रित हो गई, हर कोई घटना को लेकर हतप्रभ था.  कार में सवार लोग मदद की गुहार लगातें रहें पर लोग चाह कर भी मदद नहीं कर सके.

एक ही परिवार के सदस्य थे सभी मृतक

कोतवाल सुभाष बिजारणीयां ने बताया कि मृतक सभी मेरठ के रहनेवाले और एक ही परिवार के थे. मृतक हार्दिक,उसकी माता,पत्नी और दो बेटियों के अलावा हार्दिक की मौसी और मौसी का बेटा था. मृतकों में पत्नी नीलम गोयल 55 वर्ष, पति मुकेश गोयल और उनका बेटा आशुतोष गोयल 35 वर्ष,  पुत्र मुकेश गोयल,  मंजू बिंदल 58 वर्ष पत्नी महेश बिंदल, हार्दिक बिंदल 37 वर्ष पुत्र, स्वाति बिंदल 32 वर्ष हार्दिक की पत्नी, हार्दिक की बेटी 7 वर्षीय दीक्षा, और चार साल की बेटी  शिक्षा भी शामिल हैं. सभी शारदा रोड मेरठ के रहने वाले थे.

मौके पर आईजी सत्येंद्रसिंह, कलक्टर कमर उल जमान चौधरी, एसपी भुवण भूषण यादव, फतेहपुर डिप्टी रामप्रताप विश्नोई सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए. वहीं मृतकों के परिजन भी मेरठ से फतेहपुर के लिए रवाना हो चुके हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *