राष्ट्रिय

Manipur Violence: मणिपुर में फिर हुई गोलीबारी, दो की मौत; मृतकों की अभी तक नहीं हुई पहचान

Manipur Violence News: लोकसभा चुनाव से पहले भी मणिपुर में हिंसा जारी है. शनिवार (13 अप्रैल) को एक बार फिर हुई फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई है. पूर्वी इंफाल और कांगपोकपी जिले के बीच सटे मोइरंगपुरेल इलाके में हथियारबंद दो समूहों के बीच गोलीबारी हुई है.

जिन लोगों की मौत हुई है वे दोनों कुकी समुदाय से हैं. दो दिनों में फायरिंग की यह दूसरी घटना है. पूरे इलाके में सुरक्षाबल तैनात कर दिए गए हैं. मोइरंगपुरेल इलाके में कुकी और मैतई में मुठभेड़ के बाद गोलियां चली हैं. सुरक्षा बलों ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया है.

कांगपोकपी जिले में बंद का आह्वान

फायरिंग की इस घटना में कुकी समुदाय के दो लोगों की हत्या के विरोध में कमेटी ऑन ट्राइबल यूनिटी (CoTU) ने कांगपोकपी जिले में 13 अप्रैल की मध्यरात्रि से 14 अप्रैल की मध्यरात्रि तक 24 घंटे का पूर्ण शटडाउन का आह्वान किया है.

CoTU ने कहा है कि शांतिपुर में भी कुकी समुदाय के एक व्यक्ति की 12 अप्रैल को मैतई समुदाय के लोगों ने हत्या कर दी थी. इसके पहले 12 अप्रैल को भी थौबाल जिले में अज्ञात हमलावरों ने सूर्योदय से पहले अंधाधुंध फायरिंग की थी जिसमें एक व्यक्ति के घायल होने की सूचना आई थी.

पहले चरण के लोकसभा चुनाव से पहले अमित शाह का दौरा

15 अप्रैल को गृह मंत्री अमित शाह का मणिपुर दौरा है. ऐसे में ताजा हिंसा के कारण तनाव का माहौल सुरक्षा बलों के लिए चिंता का सबब बन गया है. वहीं, 19 अप्रैल को पहले फेज में इनर और आउटर मणिपुर लोकसभा सीट के लिए वोटिंग होनी है. केंद्र सरकार ने सुरक्षाबल की तैनाती भी की है. इसके बावजूद हिंसा हो रही है.

बता दें कि पिछले साल मई महीने में मणिपुर में शुरू हुई हिंसा के बाद अब तक 65 हजार से अधिक लोग अपना घर छोड़ चुके हैं. 6 हजार मामले दर्ज हुए हैं और 144 लोगों की गिरफ्तारी हुई है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *