अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

बीआरडी मेडिकल कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर समेत 38 लोगों पर FIR, मेडिकल स्टोर में घुसकर की थी मारपीट और तोड़फोड़

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों और मेडिकल स्टोर संचालक विवाद ने तूल पकड़ लिया है। एक प्रोफेसर समेत 38 जूनियर डॉक्टरों पर डकैती, तोड़फोड़ और बलवा का केस दर्ज हुआ है। दोनों पक्ष आमने-सामने हैं। इस मामले में मेडिकल स्टोर संचालकों की एकजुटता और मारपीट के फुटेज ने मेडिकल कॉलेज प्रशासन को भी असहज कर दिया है।मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने मामले को शांत कराने का प्रयास शुरू कर दिया है। वहीं, चुनावी माहौल को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने भी शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपनी तरफ से तैयारी कर रखी है।

मेडिकल स्टोर संचालक से मारपीट मामले में 38 डॉक्टरों पर केस दर्ज होने के बाद से उनमें अंदरखाने विरोध का स्वर तो है, लेकिन वे पुराने दिनों की कार्रवाई और मेडिकल कॉलेज के सख्त रुख से सहमे हुए है। पुलिस ने ऐसे ही मारपीट के मामले में केस दर्ज कर साक्ष्यों के आधार पर कुछ महीने पहले ही डॉक्टरों के खिलाफ चार्जशीट दााखिल की थी।

इस वजह से डॉक्टरों का कॅरिअर दांव पर है। अब उसे ही याद कर डॉक्टर खुलकर विरोध करने से बच रहे हैं। उधर, मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है और अल्टीमेटम दे दिया है कि किसी ने स्वास्थ्य सेवा बिगाड़ने की कोशिश की तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दूसरी सबसे बड़ी बात, यह भी है कि पूरी घटना का CCTV फुटेज भी मेडिकल कॉलेज प्रशासन और पुलिस के पास मौजूद है। केस दर्ज कराने से पहले दवा विक्रेता समिति के व्यापारियों ने भी सीसीटीवी फुटेज के साथ प्रिंसिपल से मुलाकात की थी और पूरी घटना से अवगत कराया। कर्मचारी भी आरोपी डॉक्टरों नाराज चल रहे हैं। मेडिकल स्टोर में तोड़फोड़ के बाद ही आरोपी डॉक्टर ने एक कर्मचारी को थप्पड़ मार दिया था।

इसके बाद सारे कर्मचारी एकजुट होकर हंगामा करने लगे थे। इस प्रकरण में प्रिंसिपल ने विभागीय जांच का आदेश देकर मामले को शांत कराया था। अब इसी बीच केस दर्ज होने के बाद मेडिकल कॉलेज अपनी तैयारी में है, ताकि कोई परेशानी ना आने पाए। हालांकि व्यापारी भी इसमें समझौता चाहते थे, लेकिन बाद में स्थिति को देखते हुए केस दर्ज कराया है।

पूरा मामला

दरअसल, प्रशांत कुमार बीआरडी मेडिकल कॉलेज के उत्तरी गेट सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक के सामने न्यू विशाल मेडिकल स्टोर चलाते हैं। शुक्रवार सुबह 11:00 बजे मेडिकल स्टोर के सामने दुकान का रास्ता रोकर किसी ने स्कूटी खड़ी कर दी थी।

दुकान के सामने बाइक खड़ी करने से मना करने पर बीआरडी मेडिकल कॉलेज के एक सहआचार्य नाराज हो गए और गाली देते हुए धमकी देकर चले गए। करीब आधे घंटे बाद वह 30 से 35 मेडिकल छात्रों के साथ दुकान पर पहुंचे और गाली देते हुए दुकान में घुसकर कर्मचारियों को मारना पीटना शुरू कर दिए।

कर्मचारियों ने दुकान के पीछे के रास्ते से भागकर जान बचाई, इधर दुकान में किसी के न मिलने पर आरोपियों ने दुकान के दो फ्रिज, काउंटर, रैक तोड़कर दवा बिखेर दिए। आरोप है कि दुकान के काउंटर में रखा 22 हजार नकद और दुकानदार के भाई पीयूष का मोबाइल फोन लूट लिया गया।

जाते समय मेडिकल छात्रों ने धमकी दी कि अगर इसकी शिकायत किसी ने की तो जान से मार दिया जाएगा। इस दौरान आसपास दहशत का माहौल था। आरोप है कि मेडिकल कॉलेज के एक विभाग के सहायक प्रोफेसर एवं कुछ मेडिकल छात्रों ने स्टोर के सामने बाइक खड़ी करने के विवाद में घटना को अंजाम दिया है।

सूचना पर 112 नंबर की पुलिस घटनास्थल पहुंची, जिसका फोटो वीडियो बनाकर पीड़ित को थाने भेज दी। मेडिकल स्टोर संचालक ने चिलुआताल थाना पुलिस को सहायक प्रोफेसर समेत चार नामजद और 35 अज्ञात के खिलाफ लिखित तहरीर दी। जिसके बाद इस मामले में केस दर्ज हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *