राष्ट्रिय

टाटा समूह की विस्तारा को सबसे बड़ा झटका, 15 पायलट्स ने दिया इस्तीफा

सैलरी पैकेज में संशोधन का विरोध कर रहे विस्तारा एयरलाइन के 15 पायलटों ने पिछले कुछ दिन में एयरलाइन से इस्तीफा दे दिया है. सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. यह एयरलाइन प्रतिदिन 300 से कुछ अधिक उड़ानों का परिचालन करती है और इसके पास 70 विमानों का बेड़ा है. टाटा ग्रुप (Tata Group) की एयरलाइन विस्तारा पिछले कुछ सप्ताह से पायलटों के बीच बढ़ते असंतोष से जूझ रही है. इस दौरान एयरलाइन के A320 विमानों के कई पायलट खुद को अस्वस्थ बताते हुए अनुपस्थित हो गए.

15 पायलटों ने दिया इस्तीफा

सूत्रों के मुताबिक, Vistara Airline के कम-से-कम 15 पायलटों ने इस्तीफा दे दिया है और एक घरेलू किफायती एयरलाइन से जुड़ गए हैं. हालांकि, इस बारे में विस्तारा के प्रवक्ता ने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

एयरलाइन में लगभग 800 पायलट हैं और इस्तीफा देने वाले वरिष्ठ प्रथम अधिकारियों ने अपना रूपांतरण प्रशिक्षण पूरा कर लिया था जिससे उन्हें बड़े आकार के बोइंग 787 विमानों को संचालित करने की अनुमति मिली.

क्या है एयरलाइन का सैलरी विवाद?

अप्रैल में लागू हुए नए अनुबंध की शर्तों के तहत, विस्तारा के पायलटों को 70 घंटों की बजाय अब 40 घंटों के लिए एक निश्चित वेतन दिया जाएगा. यह बदलाव टाटा समूह की एयरलाइनों में अपनाई गई मानकीकृत सैलरी स्ट्रक्चर के अनुरूप है. कई ऑफिसर्स को डर है कि इस समायोजन से उनकी कमाई पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा.

एयर इंडिया (Air India) के साथ विलय योजना के दौर से गुजर रही विस्तारा ने पायलटों के लिए नए अनुबंध पेश किए हैं. लेकिन विस्तारा के कई पायलट इसका विरोध कर रहे हैं क्योंकि मुआवजे के निश्चित घटक को कम कर दिया गया है और उड़ान-संबद्ध प्रोत्साहनों पर जोर दिया गया है. पिछले कुछ सप्ताह में चालक दल की अनुपलब्धता होने से विस्तारा के विमान परिचालन पर असर पड़ा है और कई उड़ानों को रद्द करना पड़ रहा है. इस पर विमानन नियामक DGCA ने एयरलाइन को एक दैनिक रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है.

DGCA ने विस्तारा से मांगी जानकारी

DGCA ने मंगलवार को बयान में कहा कि Vistara की विभिन्न उड़ान बाधाओं के मद्देनजर उसने एयरलाइन को कैंसिल की जा रही और विलंबित उड़ानों की दैनिक जानकारी तथा विवरण देने को कहा है. DGCA के अधिकारी उड़ान रद्द होने और देरी की स्थिति में यात्रियों को सुविधाएं प्रदान करने के लिए जरूरी आवश्यकताओं का अनुपालन सुनिश्चित करने को स्थिति की निगरानी कर रहे हैं.

रेगुलेटर ने कहा, यह यात्रियों की असुविधा को कम करने के लिए है. सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने मंगलवार को कहा कि वह Vistara की उड़ानें कैंसिल होने की स्थिति पर नजर रख रहा है.

मिनिस्ट्री ने मंगलवार को सोशल मीडिया मंच X पर लिखा, “फ्लाइट्स उड़ाने का मैनेजमेंट एयरलाइन द्वारा स्वयं किया जाता है, लेकिन उनके कैंसिल होने या देरी की स्थिति में यात्रियों की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए एयरलाइन को DGCA मानदंडों का पालन करना होगा.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *