अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

लूट के बाद हत्या की रूह कंपा देने वाली वारदात, घर में अकेले रहता था सीनियर अकाउंटेंट बुजुर्ग

इंदिरानगर के सेक्टर ए में घर में अकेले रह रहे 92 साल के बुजुर्ग (जल निगम से सीनियर एकाउंटेंट के पद से सेवानिवृत्त) प्रेम नारायण अग्रवाल की शनिवार को हत्या कर लूटपाट की गई। शाम को खाना बनाने पहुंची महिला ने तख्त पर उनका नग्न शव पड़ा देखा। सूचना पर पुलिस और मृतक के ससुरालीजन पहुंचे। गाजीपुर थाने की पुलिस संदिग्ध नाबालिग को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

प्रेम नारायण की पत्नी सरोज बाला का करीब 13 साल पहले निधन हो चुका है। उनके बच्चे नहीं थे। प्रेम नारायण घर पर अकेले रहते थे। एसीपी गाजीपुर विकास जायसवाल ने बताया कि उनके मकान में किराये पर रह चुकीं हर्षिता रोजाना उनके लिए खाना बनाने आती थीं। शनिवार शाम करीब साढ़े पांच बजे वह प्रेम नारायण के घर पहुंचीं। भीतर गईं तो देखा, कमरे में तख्त पर उनका शव पड़ा है। शरीर पर एक कपड़ा नहीं था। हर्षिता ने पुलिस को सूचना दी। फिर पुलिस ने नाका निवासी प्रेम नारायण के साले राजीव अग्रवाल को घटना की जानकारी दी।

कुर्ते से गला कसा या हाथों से घोंटा

एसीपी ने बताया कि प्रेम नारायण के गले में कुर्ता कसा हुआ था। आशंका है कि इसी से मारा गया। यह भी आशंका है कि शायद हत्यारे ने हाथों से गला घोंटा हो। रविवार को पोस्टमार्टम से मौत की वजह साफ होगी।

खुली थी अलमारी, अस्त-व्यस्त था सामान

पुलिस ने छानबीन में पाया कि घर का सामान अस्त-व्यस्त था। अलमारी खुली थी। साफ है कि वारदात को अंजाम देने वाले ने लूटपाट की। हालांकि, कितने की लूट हुई, यह बताने वाला कोई नहीं है।

सीसीटीवी की मदद से पकड़ा संदिग्ध

पुलिस ने घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इसमें कैद हुए नाबालिग संदिग्ध को कुछ ही देर बाद पकड़ लिया गया। सूत्रों के मुताबिक वह नशे का आदि है। आशंका है कि पैसों के लिए वह घर में घुसा और जब प्रेम नारायण ने उसे देखकर विरोध किया तो उसने उनकी हत्या कर दी। फिर लूटपाट कर भाग निकला।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *