अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

माफिया मुख्तार अंसारी की इलाज के दौरान मौत, तबीयत खराब होने पर जेल से लाया गया था मेडिकल कॉलेज

बांदा. माफिया मुख्तार अंसारी की मौत हो गई है. मुख्तार अंसारी बांदा मेडिकल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. 9 डॉक्टरों की टीम निगरानी कर रही थी. माफिया मुख्तार अंसारी की मौत हो गई है. मुख्तार अंसारी बांदा मेडिकल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. बांदा मेडिकल कॉलेज की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन जारी हो गया है. कार्डियक अरेस्ट की वजह से मुख्तार अंसारी की मौत की वजह बताई गई है. मुख्तार अंसारी पर 65 से ज्यादा मुकदमें दर्ज थे. 21 सितंबर 2002 को पहली बार सजा हुई थी. 2 केस में उम्र कैद की सजा हुई थी. 17 महीने में 8 बार सजा हुई थी.

इसी बीच, मऊ और गाजीपुर और बांदा में सुरक्षा बढ़ाई गई है. बांदा मेडिकल कॉलेज के बाहर
बड़ी संख्या में पैरा मिलिट्री फोर्स की तैनाती की गई है. डीजीपी मुख्यालय ने सतर्कता बरतने के निर्दश दिए हैं.

माफिया मुख्तार के परिवार के सदस्य बांदा के लिए रवाना हुए हैं. मुख्तार के छोटे बेटे उमर अंसारी बांदा के लिए रवाना हो गए हैं. मुख्तार के बड़े बेटे अब्बास अंसारी की पत्नी निखत और अफजाल अंसारी कुछ देर पहले गाजीपुर से बांदा के लिए रवाना हुए. हाईकोर्ट में मुख्तार अंसारी की पैरवी करने वाले वकील अजय श्रीवास्तव भी बांदा के लिए रवाना हुए.

मऊ, बांदा और गाजीपुर में धारा 144 लागू

इधर, मुहम्मदाबाद मे मुख्तार के पैतृक घर मे लोगों का इकट्ठा होना शुरू हो गया है. मुख्तार के घर के आसपास पुलिस फोर्स तैनात की गई है.गाजीपुर, मऊ, आजमगढ़ पुलिस को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं. सोशल मीडिया में अफवाह, भड़काऊ, या आपत्तिजनक पोस्ट पर कार्यवाई के निर्देश दिए गए हैं. मुख्तार की मौत के बाद मऊ, बांदा और गाजीपुर में धारा 144 लागू कर दी गई है.

मुख्यमंत्री आवास पर चल रही बड़ी बैठक

मुख्तार अंसारी की मौत के बाद मुख्यमंत्री आवास पर बड़ी बैठक चल रही है. डीजीपी प्रशांत कुमार, एडीजी एलओ अमिताभ यश मौजूद हैं. मुख्यमंत्री आवास से घटनाक्रम पर पैनी नजर रखी जा रही है. सीएम योगी ने निर्देश दिए कि किसी भी हाल में अप्रिय घटना ना हो.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *