अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

शाइस्‍ता परवीन और जैनब की तलाश में रात भर चली छापेमारी, कई गांवों की खाक छान खाली लौटी प्रयागराज पुलिस

उमेश पाल हत्याकांड की आरोपी, 50 हजार रुपये की इनामी, यूपी की लेडी डॉन और माफिया अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन के हटवा गांव आने की सुगबुगाहट पर पुलिस ने एक्शन लिया है.  बता दें कि उमेश पाल हत्याकांड के बाद से ही माफिया अतीक अहमद की पत्‍नी शाइस्‍ता परवीन पुलिस की पकड़ से बाहर है. शाइस्‍ता और उसकी देवरानी जैनब फातिमा की तलाश में  देर रात एक बजे से लेकर गुरुवार सुबह पांच बजे तक प्रयागराज के कई इलाकों में पुलिस ने छापेमारी की. चकिया, कसारी मसारी और हटवा गांव में पहुंची पुलिस को कोई खास जानकारी नहीं मिल सकी.

शाइस्‍ता परवीन और जैनब की तलाश

बता दें कि उमेश पाल के हत्याकांज के बाद पत्नी शाइस्ता परवीन और अतीक अहमद के छोटे भाई जैनब फरार है. इन्हीं दोनों को पकड़ने के लिए पुलिस ने देर रात कई जगहों पर छापेमारी किया है. यूपी के प्रयागराज पुलिस को ये इनपुट मिला था कि शाइस्ता और अतीक के भाई अशरफ की पत्नी प्रयागराज में है. इसी सूचना के बाद पुलिस की अलग-अलग टीमों ने अतीक के करीबियों और शाइस्ता प्रवीन के अपने घर चकिया और हटवा  में एक सर्च ऑपरेशन चला कर तलाशी शुरू कर दिया.

रात भर चली छापेमारी

सर्च ऑपरेशन के दौरान प्रयागराज पुलिस ने अतीक अहमद के दोनों बेटे जो हाल ही में बाल सुधार गृह से छूटे हैं और इस वक्त धूमनगंज इलाके हटवा गांव में रह रहे हैं. जानकारी के मुताबिक पुलिस के इनपुट मिला था कि शाइस्ता अपने दोनों बेटे से मिलने प्रयागराज पहुंच सकती है. इसी आधार पर पुलिस ने जनाब और शाइस्ता को ढूंढने के लिए देर रात सर्च ऑपरेशन चलया.

कौन है लेडी डॉन शाइस्ता

गौरतलब है कि उमेश पाल की हत्या के बाद से ही शाइस्ता परवीन और गुड्डू मुस्लिम फरार चल रहे हैं. यूपी पुलिस ने इन दोनों पर ही इनाम घोषित किया है. जहां शाइस्ता परवीन पर 50 हजार का इनाम है, वहीं बमबाज गुड्डू मुस्लिम और साबिर पांच लाख का इनामी है. लेकिन पुलिस अबतक इन दोनों का पता नहीं लगा पाई है. बता दें कि बदमाशों ने बहुजन समाज पार्टी के विधायक रहे राजू पाल की हत्या के मामले में गवाह उमेश पाल पर 24 फरवरी 2023 को गोलीबारी कर दी थी.

उमेश पाल गाड़ी से निकलकर जब अपने घर की ओर भागे, तब बदमाशों ने उनको निशाना बनाकर बम भी फेंके थे. इस हमले में गंभीर रूप से घायल उमेश पाल और उनके दो गनर को आसपास के लोगों ने इलाज के लिए तत्काल स्वरूप रानी नेहरू अस्पताल पहुंचाया जहां उपचार के दौरान तीनों की मौत हो गई थी. इसी घटना के बाद से शाइस्ता और जैनब फरार है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *