अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

डूंगरपुर मामले में साक्ष्य के अभाव में आजम खां सहित आठ लोग बरी, चुनाव से पहले बड़ी राहत

रामपुर आज़म खान के मामले में कोर्ट का फैसला आया, आज़म खान को राहत,डूंगरपुर प्रकरण में हुए बरी। गौरतलब है कि सपा शासनकाल में डूंगरपुर में आसरा आवास बनाए गए थे। इस जगह पर पहले से कुछ लोगों के मकान बने हुए थे। आरोप था कि सरकारी जमीन पर बताकर वर्ष 2016 में तोड़ दिया गया था। इस मामले में पीड़ितों ने लूटपाट का आरोप भी लगाया था। वर्ष 2019 में भाजपा सरकार आने पर रामपुर के गंज थाने में इस मामले में करीब एक दर्जन अलग-अलग मुकदमे दर्ज कराए गए थे।

आरोप लगाया कि सपा सरकार में आजम खां के इशारे पर पुलिस और सपाइयों ने आसरा आवास बनाने के लिए उनके घरों को जबरन खाली कराया था। वहा पहले से बने मकानों पर बुलडोजर भी चलवाकर ध्वस्त कर दिया गया था। हलाक़े इस तरह के दो मामले में रामपुर के एमपी एमएलए कोर्ट से ही फैसला आ चुका है। एक मे पहले आज़म खान को बरी कर दिया गया था। ओर दूसरे में 7 साल की सज़ा हुई थी। इस मामले में पूर्व पालिकाध्यक्ष अजहर अहमद खां, ठेकेदार बरकत अली, रिटायर्ड सीओ आले हसन, फिरोज खां, रानू खां, ओर्मेंद्र चौहान, आजम खां आरोपी थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *