अपराधदिल्ली/एनसीआरनई दिल्ली

अरविंद केजरीवाल को ED ने किया गिरफ्तार, दिल्ली शराब घोटाले में हुए अरेस्ट

नई दिल्ली: दिल्ली शराब नीति केस (Delhi Liquor Policy Case) में प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को 21 मार्च (गुरुवार) को गिरफ्तार कर लिया है. आज ही दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने केजरीवाल को गिरफ्तारी को लेकर प्रोटेक्शन देने से इनकार कर दिया था. जिसके बाद ED की टीम गुरुवार शाम 7 बजे केजरीवाल के घर पहुंची. टीम के पास सर्च वारंट था. जांच एजेंसी ने सीएम हाउस की तलाशी ली. फिर करीब 2 घंटे केजरीवाल से पूछताछ की. इसके बाद रात 9 बजे ईडी ने अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया. इसी केस में मनीष सिसोदिया 13 महीने से और AAP नेता संजय सिंह 6 महीने से तिहाड़ जेल में हैं.

सीएम केजरीवाल को ED हेडक्वार्टर ले जाया गया. जहां राम मनोहर लोहिया (RML)अस्पताल के डॉक्टरों की टीम उनका मेडिकल टेस्ट करेगी. मेडिकल टेस्ट के बाद केजरीवाल को ED के लॉकअप में रखा जाएगा. शुक्रवार सुबह उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा. इस बीच ED हेडक्वॉर्टर के बाहर सिक्योरिटी बढ़ा दी गई है. कुछ देर में इस मामले पर आम आदमी पार्टी प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी.

सुप्रीम कोर्ट में सुबह होगी सुनवाई

अरविंद केजरीवाल की लीगल टीम ने ई-फाइलिंग के जरिए अर्जी दाखिल की और केस की तुरंत सुनवाई के लिए अर्जेंट लिस्टिंग की मांग की. जानकारी के मुताबिक, केजरीवाल की अर्जी पर तुरंत सुनवाई नहीं होगी. आज रात कोई बेंच नहीं बनाई जा रही है. केजरीवाल की अर्जी पर शुक्रवार सुबह ही सुनवाई होगी.

गिरफ्तारी के बाद भी केजरीवाल बने रहेंगे दिल्ली के सीएम

वहीं, आम आदमी पार्टी की नेता और मंत्री आतिशी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल गिरफ्तार होने के बाद भी सीएम बने रहेंगे. गिरफ्तारी को “राजनीतिक साजिश” बताते हुए आतिशी ने कहा, “दो साल में वे एक रुपया भी बरामद नहीं कर पाए हैं, जबकि इस मामले में 500 से अधिक अधिकारी शामिल थे.” इस बीच तिहाड़ जेल के सूत्रों ने कहा कि जेल से सरकार चलाने का कोई प्रावधान नहीं है. अगर केजरीवाल को तिहाड़ जेल में रखा जाता है, तो जेल मैनुअल के हिसाब से ही सब होगा.

बीजेपी मुख्यालय का घेराव करेगी AAP-गोपाल राय

अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी ने देर रात प्रेस कॉन्फ्रेंस की. आप नेता गोपाल राय ने कहा, “ये दिल्ली के सीएम की नहीं, बल्कि दिल्ली के 2 करोड़ जनता की गिरफ्तारी है. यह लोकतंत्र की हत्या है… दिल्ली की जनता लड़ेगी और जीतेगी. केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ आम आदमी पार्टी शुक्रवार सुबह बीजेपी मुख्यालय का घेराव करेगी. बीजेपी अगर ये सोचती है कि अरविंद केजरीवाल को अरेस्ट करके वे आम आदमी पार्टी को खत्म कर देंगे. विपक्ष को डरा देंगे, तो ये उनकी गलत फहमी है. इसके खिलाफ देश लड़ाई लड़ेंगे. हमने पार्टी के वरिष्ठ नेता की बैठक बुलाई है, जिसके बाद हम आगे की रणनीति तय करेंगे…”

आतिशी बोलीं-उम्मीद है लोकतंत्र की रक्षा करेगी सुप्रीम कोर्ट 

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा, “हमने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की अवैध गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अर्जी डाली है. आज सुबह सुप्रीम कोर्ट में इसका जिक्र किया जाएगा. हमें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट लोकतंत्र की रक्षा करेगी.”

शराब नीति केस में ईडी ने केजरीवाल को बताया मास्टमाइंड

सूत्रों के मुताबिक, ईडी के अधिकारियों ने अरविंद केजरीवाल और उनके फैमिली मेंबर्स का मोबाइल फोन और दूसरे गैजेट्स जब्त कर लिए थे. सीएम हाउस के बाहर भारी पुलिस फोर्स की तैनाती की गई थी. केजरीवाल के घर के बाहर धारा-144 भी लगा दिया गया था. सूत्रों के मुताबिक, ईडी ने शराब नीति केस में अरविंद केजरीवाल को मास्टमाइंड बताया है.

दिल्ली के शराब नीति केस में ईडी अरविंद केजरीवाल को अब तक 9 समन भेज चुकी है, लेकिन वह एक बार भी ईडी के सामने पेश नहीं हुए. केजरीवाल ने 9वें समन को दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती देते हुए गिरफ्तारी से प्रोटेक्शन की मांग की थी. जो खारिज हो गई. जिसके बाद ईडी सीएम के घर पहुंची है.

इससे पहले केजरीवाल ने कोर्ट से कहा था कि वे प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश होने के लिए तैयार हैं, लेकिन उन्हें भरोसा दिया जाए कि जांच एजेंसी उन्हें गिरफ्तार नहीं करेगी. इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने ED को जवाब देने और नई अंतरिम याचिका दायर करने के लिए भी कहा है. 22 अप्रैल को इस केस की अगली सुनवाई होगी.

केजरीवाल को कब-कब जारी हुआ समन?

शराब नीति केस में ईडी ने अरविंद केजरीवाल को इस साल 17 मार्च को नौवां समन भेजा था. उससे पहले दिल्ली के सीएम को 27 फरवरी को आठवां, 26 फरवरी को सातवां, 22 फरवरी को छठा, 2 फरवरी को पांचवां, 17 जनवरी को चौथा, 3 जनवरी को तीसरा समन जारी किया गया था. वहीं, 2023 में 21 दिसंबर को दूसरा और 2 नवंबर को पहला समन जारी हुआ था.

केजरीवाल पर क्या है आरोप?

दिल्ली शराब नीति घोटाला केस में प्रवर्तन निदेशालय की टीम केसीआर की बेटी के. कविता को हिरासत में लेकर लगातार पूछताछ कर रही है. ईडी की टीम ने बयान जारी किया है. इसमें एजेंसी ने शराब नीति घोटाला केस में गिरफ्तार के. कविता के साथ अरविंद केजरीवाल का भी नाम लिया है. प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने दावा किया कि के. कविता ने अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया के साथ मिलकर शराब नीति में बदलाव करवाए.

शराब नीति केस में अब तक कौन-कौन गिरफ्तार

दिल्ली की शराब नीति केस में अब तक पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, कारोबारी विजय नायर, अभिषेक बोइनपल्ली और AAP के राज्यसभा सांसद संजय सिंह अरेस्ट हो चुके हैं. इस केस में मनीष सिसोदिया को 26 फरवरी 2023 को लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया था. तब से वह तिहाड़ जेल में हैं. शराब नीति घोटाले में संजय सिंह का नाम पहली बार दिसंबर 2022 में सामने आया था. तब ईडी ने चार्जशीट में कारोबारी दिनेश अरोड़ा के बयान के हिस्से के रूप में आप नेता के नाम का उल्लेख किया गया था. दिल्ली शराब नीति घोटाला केस में प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने बीआरएस नेता और केसीआर की बेटी के. कविता को हिरासत में ले रखा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *